दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। World Thyroid Day 2020: आज विश्व थायरॉयड दिवस है। इसे पहली बार 2008 में मनाया गया था। जब अमेरिकन थायरॉयड एसोसिएशन (ATA) और यूरोपीय थायरॉयड एसोसिएशन (ETA) ने थायरॉयड के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए इस दिन को मनाया था। इसके बाद हर साल 25 मई को विश्व थायरॉयड दिवस मनाया जाता है। खासकर, कोरोना वायरस महामारी के इस संकट में लोगों को अपनी सेहत के लिए अधिक सावधान रहने की जरूरत है। पुरुषों की तुलना में महिलाएं इस बीमारी से अधिक ग्रसित होती हैं।

थायरॉयड क्या है

इस बीमारी के होने की मुख्य वजह शरीर में आयोडीन की कमी है। इससे गले की ग्रंथि बढ़ने लगती है, जो तितली के आकर की होती है। इसके लिए खराब दिनचर्या, गलत खानपान और हार्मोन में असंतुलन भी जिम्मेवार हैं। अगर हार्मोन में असंतुलन होने लगता है तो शरीर का वजन या तो बढ़ने लगता है या फिर लगातार घटने लगता है।

थायरॉयड के लक्षण

इस बीमारी में वजन कम होना या बढ़ना, सांस लेने में तकलीफ (सांसें तेजी से चलना), आयोडीन की कमी से प्यास अधिक लगना, थकान, घबराहट होने की शिकायतें रहती हैं।

थायरॉयड के उपचार

इसके लिए आप आयोडीन युक्त चीजें अपनी डाइट में जोड़ें। साथ ही कटहल का सेवन जरूर करें। इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, कटहल थायरॉयड रोग में रामबाण दवा है। इसमें कॉपर पाया जाता है, जो मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने में सहायक होता है। साथ ही हार्मोन भी संतुलित रहता है, जिससे थायरॉयड कंट्रोल रहता है।

अदरक भी फायदेमंद होता है

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व, पोटेशियम और मैग्नीश्यिम पाए जाते हैं, जो थायरॉयड को न केवल नियंत्रित करते हैं, बल्कि इसके लेवल को संतुलित भी रखते हैं।

आयोडीन का सेवन करें

इसके लिए आप समुद्री फिश का सहारा ले सकते हैं। डॉक्टर हमेशा से मरीजों को सी फिश खाने की सलाह देते हैं। इसमें आयोडीन की अधिकता होती है।

Posted By: Umanath Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस