नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Delhi Pollution Things To Remember: अगर किसी शहर का AQI यानी एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 400 से ज़्यादा होता है तो वहां आप ज़्यादा देर खुले में खड़े नहीं हो पाएंगे। क्योंकि कुछ ही देर में आपको घुटन और सांस लेने में दिक्कत जैसा महसूस होने लगेगा। इस समय दिल्ली और उसके आपपास के कई शहरों का AQI 999 तक पहुंच गया है। यानी ये प्रदूषण का वो स्तर है जिसमें सांस लेना और जीना नामुमकिन है। आपको ये जानकर शायद हैरानी होगी कि ये जानलेवा प्रदूषण न सिर्फ आपके फेफड़ों बल्कि दिल, दिमाग़ और यहां तक कि आंखों को गंभीर नुकसान पहुंचाता है। इससे होने वाली कई ऐसी बीमारियां हैं जो ज़िंदगी भर आपका साथ नहीं छोड़ेंगी।  

प्रदूषण का ये स्तर न सिर्फ इंसानों बल्कि जानवरों के लिए भी उतना ही खतरनाक है। दिवाली के कुछ ही दिन बाद दिल्ली और एनसीआर में खतरनाक प्रदूषण के स्तर की वजह से हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी गई है। हवा में मौजूद प्रदूषक तत्वों के शरीर में घुस जाने की वजह से स्ट्रोक, हार्ट अटैक, माइग्रेन, तनाव, नींद की समस्या, चिड़चिड़ापन, भूलने की बीमारी, कमज़ोर आंखे, दमा, डिहाइड्रेशन, डायरिया और पीलिया जैसी खतरनाक बीमारियां हो रही हैं।

इन समस्याओं से बचने के लिए करना होगा ये काम

1. जहां ज़्यादा प्रदूषण होता है वहां जानें से बचें, शरीर को थकने वाले काम न करें। अगर ज़्यादा बैचेनी महसूस हो रही है तो डॉक्टर को तुरंत दिखाएं। 

2. सांस लेने में परेशानी है तो नेबुलाइज़र या ऑक्सीजन आदि का इस्तेमाल करें।

3. शेड्य या फिर चश्मों को पहनकर ही बाहर जाएं। आई ड्रॉप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। तकलीफ अगर कम न हो तो डॉक्टर से मिलें।

4. रसोई में चिमनी या एक्ज़ॉस्ट फैन न लगाएं। बाहर जाते समय मास्क लगाएं, बाहर एक्सरसाइज़ करने से बचें। घर के अंदर या फिर जिम में सांस से जुड़े योग करें ताकि फेफड़ों ताकतवर बनें। 

5. सुबह शाम की सैर बिलकुल छोड़ दें। इसके अलावा हल्का खाना लें, पानी साफ पिएं और ज़्यादा ठंडा या गर्म पानी न पिएं।

6. शरीर का अधिकांश हिस्सा ढक कर रखें। सिक्न पर नारियल का तेल लगाकर बाहर निकलें और घर आने पर सबसे पहले शरीर के हिस्सों को धो लें।  

Posted By: Ruhee Parvez

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप