नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। कोरोनावायरस संक्रमण से रिकवर होने के बाद भी मरीज़ों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस बीमारी को मात देने के बाद कई मरीज़ों को जोड़ों में दर्द की शिकायत रहती है। कोरोना के मरीज़ों की मांसपेशियों में दर्द कोरोना के अन्य पोस्ट कोविड लक्षणों की तुलना में सामान्य होता जा रहा हैं। कोविड रिकवर पेशंट की रिपोर्ट निगेटिव होने के बाद उसे कई हफ्तों तक जोड़ों का दर्द परेशान करता रहता है।

मांसपेशियों में दर्द अक्सर मांसपेशियों में सूजन के कारण होता है। कोरोनोवायरस अन्य वायरस की तरह मांसपेशियों के ऊतकों की सूजन का कारण बनता है जिससे जोड़ों में दर्द रहता है। डेंगू और चिकनगुनिया के मरीज़ों के जोड़ों में जिस तरह का दर्द रहता है ठीक उसी तरह का दर्द इस वायरस से संक्रामित हुए मरीज़ों में देखा जा रहा है। हालांकि ये दर्द डेंगू और चिकनगुनिया के दर्द से ज्यादा नहीं होता। कोरोना से रिकवर हुए मरीज़ों में पोस्ट कोविड यह परेशानी बहुत ज्यादा देखी जा रही है। कुछ मरीज़ों को यह दर्द तीन हफ्ते या उससे ज्यादा समय तक भी रह सकता है। आप भी इस दर्द से परेशान हैं तो हम आपको बताते हैं कि इस दर्द से आप घर में कैसे छुटकारा पा सकते हैं।

  • एक्सरसाइज से मांसपेशियों की जकड़न को कम किया जा सकता है। आइसिंग, रोलिंग, लाइट स्ट्रेचिंग, मसल्स की मालिश, और हल्की एरोबिक एक्सरसाइज इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए बेस्ट है।
  • दर्द से राहत पाना है तो बॉडी को हाइड्रेट रखें। पानी ज्यादा पीए। जूस और नारियल पानी का सेवन करें।
  • गर्म पानी से मसल्स की सिकाई करें।
  • गर्म पानी से रोज जरूर नहाएं।
  • अपनी डाइट का बेहद ख्याल रखें। डाइट में प्रोटीन का सेवन अधिक करें।
  • वर्क लोड कम लें। कोरोना से रिकवर होने के बाद कुछ समय के लिए आराम करें। खुद को मशीन नहीं बनाएं।
  • कुछ समय के लिए वॉक जरूर करें। हैवी एक्सरसाइज करने से परहेज़ करें और लाइट एक्सरसाइज करें ताकि आपके मसल्स की स्टिफनेस कम हो सके।
  • अगर एक से डेढ़ महीने में भी दर्द कम नहीं होता तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

                    Written By: Shahina Noor

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021