नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। प्रेग्नेंसी महिलाओं की जिंदगी में वो पीरियड है, जिसमें उन्हें अपने खान-पान से लेकर बॉडी की एक्टिविटी तक का ख्याल रखने की जरूरत होती है। इस दौरान महिलाओं को जितनी जरूरत डाइट और न्यूट्रिशन के बारे में जानने की है, उतनी ही जरूरत यह जानने की है कि उन्हें कौन से काम नहीं करने चाहिए। प्रेग्नेंसी में आप अपने साथ अपने बच्चे को भी पाल रही होती हैं, इसलिए नन्हें मासूम का ख्याल खास तरीके से रखने की जरूरत होती है। प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने बेहद नाजुक होते हैं। इन तीन महीनों में मिसकैरेज का खतरा सबसे ज्‍यादा रहता है जिसकी वजह से प्रेग्नेंट महिलाओं को पहले ट्राइमेस्‍टर में अपने खानपान से लेकर बॉडी एक्टिविटी को लेकर बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है। आप कंसीव कर रही हैं तो उससे जुड़ी जरूरी बातों को भी ध्यान में रखें। आइए जानते हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान आपको कौन से काम नहीं करने चाहिए।

इन कामों से खुद को रखें दूर

  • डाइट का खास ध्यान रखें। डाइट में हाई कैलोरी फूड, प्रोसेस्ड या पैकेज्ड फूड, अल्कोहल, ज्यादा कैफीन, आर्टिफिशियल स्वीटनर, कच्चा अंडा और कच्ची मछली खाने से परहेज करें।
  • भारी वज़न नहीं उठाएं। पानी से भरी बाल्टी, सील-बट्टा, भारी समान उठाने से परहेज करें।
  • बहुत देर तक खड़ी नहीं रहें। किचन में काम करती हैं तो वहां ज्यादा वक्त खड़ी नहीं रहें। किचन में कुर्सी का इस्तेमाल करें।
  • सीढ़ियां चढ़ने से परहेज़ करें। अगर आपका मकान ऊपर है तो कोशिश करें कि बार-बार नहीं उतरें। जरूरी काम के लिए एक बार ही रेलिंग पकड़ कर नीचे उतरें।
  • हील वाली सैंडल पहनने से परहेज करें। आप कंसीव करने के बाद से ही फ्लेट चप्पल पहनने की आदत डालें।
  • बाहर के खाने से परहेज़ करें। बाहरी खाना इंफेक्शन का कारण बन सकता है इसलिए इससे परहेज करें।
  • तला हुआ और मसालेदार खाना खाने से परहेज करें। इससे गैस और जलन हो सकती है।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान फालतू दवा खाने से परहेज करें। छोटी-मोटी बीमारियों के लिए खुद से दावा ना लें।
  • इस दौरान यात्रा करने से बचें। पब्लिक ट्रांसपोर्ट से आना-जाना करती हैं तो खुद का भीड़ से बचाव करें। 

Edited By: Shahina Noor