नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में गलत खानापन, खराब दिनचर्या, तनाव और आलस की वजह से कई बीमारियां जन्म लेती हैं। इनमें डायबिटीज, मोटापा, अनिद्रा और बालों की समस्या प्रमुख हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप अपनी दिनचर्या में सुधार करें। साथ ही वर्कआउट और योग जरूर करें। प्राचीन समय से योग किया जाता है। योग के कई प्रकार हैं। इनमें एक योग हनुमानासन है, जिसे करने से बढ़ते वजन में बहुत जल्द आराम मिलता है। इसके अतिरिक्त हड्डियों में लचीलापन आता है, मांसपेशियां मजबूत होती हैं और तनाव से निजात मिलता है। अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं और बढ़ते वजन को नियंत्रित करना चाहते हैं, तो रोजाना सुबह में हनुमानासन जरूर करें। आइए जानते हैं कि हनुमानासन क्या है और कैसे करें-

हनुमानासन क्या है

हनुमानासन हिंदी के दो शब्दों से मिलकर बना है। हनुमान भगवान श्रीराम के अनन्य और परम भक्त हैं। धार्मिक ग्रंथों की मानें तो राम भक्त हनुमान बाल ब्रह्मचारी हैं और भगवान शंकर के ग्याहरवें अवतार हैं। अतः हनुमान जी भी भगवान शंकर की तरह योग साधन किया करते हैं। इस आसन को करने से मन और मस्तिष्क शांत रहता है। साथ ही पेट की चर्बी कम होती है।

हनुमानासन कैसे करें

इसके लिए रोजाना सुबह में समतल भूमि पर दरी बिछाकर सूर्य की ओर मुखकर खड़े हो जाएं। अब दोनों पैर को फैलाकर घुटनों के बल बैठ जाएं और धीरे-धीरे अपने पैरों को फैलाएं। एक चीज़ का ध्यान रखें कि आप अपनी शारीरिक क्षमता से पैरों को फैलाएं। इसके लिए आप तस्वीर का सहारा ले सकते हैं। जबकि अपनी हाथों को सूर्य नमस्कार की मुद्रा में रखें। रोजाना 10-15 मिनट हनुमानासन करने से बढ़ते वजन में बहुत जल्द आराम मिलता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस