नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। बदलते मौसम में सेहतमंद रहना आसान नहीं होता है। इसके लिए सेहत पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। डॉक्टर्स भी बदलते मौसम में सेहतमंद रहने के लिए इम्यून सिस्टम मजबूत करने की सलाह देते हैं। इसके लिए रोजाना संतुलित आहार लें, धूप सेंकें, तनाव से दूर रहें और सही दिनचर्या का पालन करें। साथ ही रोजाना एक्सरसाइज और योग जरूर करें। वहीं, डाइट में विटामिन-सी युक्त फलों और सब्जियों को जरूर शामिल करें। इसके लिए आप शहतूत का भी सेवन कर सकते हैं। शहतूत में औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में दवा की तरह काम करते हैं। आइए, इसके फायदे को जानते हैं-

पाचन व्यवस्था में मददगार

डाइट चार्ट की मानें तो शहतूत में डायटरी फाइबर मौजूद होता है। इससे पाचन तंत्र सुचारू रूप से काम करता है। शहतूत के सेवन से कब्ज, ब्लोटिंग आदि प्रकार की समस्या में आराम मिलता है।

रक्तचाप कंट्रोल में रहता है

विशेषज्ञों की मानें तो शहतूत के सेवन ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। साथ ही रक्त वाहिकाएं भी सही से काम करता है। शहतूत के सेवन से दिल की बीमारियों में भी फायदा पहुंचता है।

कैंसर से बचाव

डॉक्टर्स की मानें तो शहतूत में एंटी कैंसर के गुण पाए जाते हैं। इन गुणों के चलते शहतूत कैंसर रोग में मददगार है। इसके लिए डाइट में रोजाना शहतूत को जरूर शामिल करें।

त्वचा के लिए फायदेमंद

शहतूत के रस में पानी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इससे शरीर हायड्रेट रहता है। शरीर के हायड्रेट रहने से त्वचा में निखार आता है। साथ ही डेड स्किन सेल्स भी बाहर निकल जाते हैं।

मधुमेह के लिए रामबाण

डायबिटीज के रोगियों के लिए शहतूत रामबाण है। शहतूत में कई गुणकारी तत्व पाए जाते हैं, जो मधुमेह के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके सेवन से शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है। वहीं, शुगर कंट्रोल में रहता है।

इम्यून सिस्टम मजबूत होता है

ijiset पर छपी एक शोध में खुलासा हुआ है कि शहतूत में विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। विटामिन-सी युक्त चीजों के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। डॉक्टर्स भी कोरोना काल में इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए विटामिन-सी युक्त चीजों को खाने की सलाह देते हैं। इसके लिए रोजाना शहतूत का सेवन जरूर करें। आप चाहे तो शहतूत के रस यानी जूस का भी सेवन कर सकते हैं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Edited By: Pravin Kumar