नई दिल्ली, ब्रांड डेस्क। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद को फिट रखना बहुत जरूरी है। इसके लिए पौष्टिक आहारों का सेवन और नियमित रूप से एक्सरसाइज आवश्यक है। शारीरिक और मानसिक रूप से खुद को मजबूत रखने के लिए यहां योग हमारी काफी मदद कर सकता है। यह बॉडी को फ्लेक्सिबल करता है, मांसपेशियों को मजबूत करता है, बॉडी टोन को बढ़ाता है और श्वसन, ऊर्जा व जीवन शक्ति में सुधार करता है।

अगर लाइफ लिरिक्स है, तो योग मेलोडी है जो आपकी बॉडी और दिमाग को शांत और मजबूत करता है। कितना आसान है, बस कुछ समय निकालें और योग के जरिए अपने आप फिट रखिए, जैसे फिटनेस इंफ्लुएंसर Rashmi Rai रखती हैं। उनका मानना है कि “यह बॉडी और दिमाग को शांत व मजबूत रखने में बहुत ही मदद करता है।” इसके लिए कुछ खास मेहनत करने की जरूरत नहीं है। योग के जरिए अपना ख्याल रखने के लिए रोजाना आधा से एक घंटा निकालें।

अव्यवस्थित जीवन की वजह से हमने अपनी लाइफ को इस तरह से बना लिया है कि लगता है कि हम व्यस्त हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। अपने जीवन से अनावश्यक काम को बाहर निकालें और योग के लिए समय निकालें। Rashmi Rai कहती हैं, “बहुत जरूरी है कि हम लोग योग को सिर्फ जाने नहीं, बल्कि अपनी जिंदगी में एक नए चेप्टर के रूप में शामिल करें”। एक एक्सपर्ट की मदद से योग का भरपूर फायदा लिया जा सकता है। इसलिए एक एक्सपर्ट के रूप में Rashmi Rai आपके साथ कुछ वीडियो और फिटनेस टिप्स साझा करने वाली हैं वो भी Koo ऐप पर।

यह ऐप बहुत ही कम समय में भारत की आवाज बन चुका है। इस ऐप पर सेलिब्रिटी और आम यूजर्स लगातार जुड़ रहे हैं और इनके फॉलोवर्स की संख्या भी काफी बढ़ रही है।

योग के इस नए चेप्टर को और भी आसान बनाने के लिए रश्मि ने सोचा है कि लोगों से सीधा जुड़ा जाए, क्योंकि ये बिलकुल सही वक्त है योग को अपनाने का। अगर आपके पास योग से संबंधित कोई सवाल है तो आप Koo पर इनके साथ सीधे जुड़ सकते हैं और अपनी योग यात्रा की शुरुआत कर सकते हैं।

Koo ऐप यूजर्स को कई तरह की सहुलियत देता है| आप न केवल लिखकर , बल्कि टॉक-टू-टाइफ फीचर का इस्तेमाल करके बोलकर विचार साझा कर सकते हैं। Koo यूजर्स को न केवल अपने विचार और अनुभव साझा करने का प्लेटफॉर्म देता है, बल्कि भारत की आवाज बनकर सबको एक साथ जोड़ भी रहा है। वर्तमान में यह नौ भाषाओं में उपलब्ध है। अगर आप हिंदी, इंग्लिश, कन्नड, तमिल, तेलुगु, मराठी, बंगला, असमी, गुजराती में से कोई सी भी भाषा जानते हैं तो आप Koo पर आसानी से अपने विचार दुनिया के सामने व्यक्त और साझा कर सकते हैं। इसके अलावा इस ऐप पर जल्द ही उर्दू, पंजाबी, संस्कृत, उडिया, मलयालम, नेपाली भाषा भी उपलब्ध होगा। इस तरह इस ऐप ने हर भाषा के यूजर्स का पूरा ख्याल रखा है।

अगर आप भी अपनी भाषा में कुछ लिखना चाहते हैं और दूसरों के साथ विचार साझा करना चाहते हैं, तो Koo ऐप पर जरूर जाइए और उसके फीचर्स का फायदा उठाइए। इसके अलावा लाइफस्टाइल और हेल्थ से संबंधित लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप Koo पर Dainik Jagran को जरूर फॉलो करें।

Note - यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है।

Edited By: Ruhee Parvez