इन दिनों लोग मेट्रो में या बस में सफर कर रहे हों, जिम में वर्कआउट कर रहें हों या फिर पैदल कहीं जा रहे हों कानों में लीड लगाकर लाउड म्यूज़िक सुनना उन्हें कूल लगता है। ऐसे लोगों को यह बात नहीं मालूम कि लीड लगाकर लाउड म्यूजिक सुनने से कान के अंदरूनी भाग में नुकसान पहुंच सकता है। कान के इस अंदरूनी भाग को इनर ईयर कहते हैं। लीड लगाकर तेज ध्वनि में संगीत सुनने से बाद में कान से संबंधित ये लक्षण प्रकट हो सकते हैं।

1. कान में सीटी जैसी आवाज आना।

2. सुनने में कमी महसूस करना।

3. लीड कान के बाहरी भाग में लगाई जाती है। ये लीड कान के उस भाग में सूजन और इंफेक्शन पैदा कर सकती है।

सुझाव

लीड की जगह हेड फोन का इस्तेमाल करें।

लीड का वॉल्यूम कम होना चाहिए।

किसी दूसरे व्यक्ति की लीड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से एक व्यक्ति का इंफेक्शन दूसरे व्यक्ति को हो सकता है।

इलाज

अगर लीड लगाने वाला व्यक्ति कान में दर्द महसूस करता है या उसका कान बह रहा है और उसे कान में सीटी बजने जैसी आवाज महसूस हो रही हो तो सचेत हो जाएं। ऐसी स्थिति में नाक, कान व गला विशेषज्ञ से परामर्श लें।

डॉ.के.के.हांडा (गुरुग्राम) 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Priyanka Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप