नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Covid Strange Symptoms: कोविड महामारी को दो साल से ज़्यादा का समय हो चुका है, आज भी दुनियाभर में रोज़ लाखों मामले सामने आ रहे हैं। नए-नए वेरिएंट के आने से कोविड के लक्षणों में भी बदलाव आए हैं। शुरुआत में बुखार, खांसी और स्वाद व सुगंध का न आने जैसे संकेतों को कोविड संक्रमण माना जाता था, लेकिन अब इस लिस्ट में गले में खराश, नाक का बहना या बंद होना और सिर दर्द भी शामिल हो चुका है।

इनके अलावा भी ऐसे कई चौंकाने वाले लक्षण हैं, जिनके बारे में कम सुनने में आता है, लेकिन वे कोविड संक्रमण का ही कारण होते हैं। आइए नज़र डालें कोविड के 4 हैरान कर देने वाले लक्षणों पर...

1. त्वचा से जुड़ी समस्याएं

कोविड से जुड़ी स्किन समस्याएं आम हैं। साल 2021 में प्रकाशित यूके के एक अध्ययन में पाया गया कि पांच में से एक रोगी में सिर्फ स्किन पर चकत्ते जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। हालांकि, कोविड स्किन को कई तरह से प्रभावित कर सकता है। त्वचा पर चकत्ते, त्वचा का रंग बदना और कोविड टोज़ भी शामिल हैं। कोविड संक्रमण के बाद अगर त्वचा पर जलन या खुजली होती है, तो फौरन डॉक्टर को दिखाएं।

2. कोविड नाखून

एक संक्रमण के दौरान, जिसमें SARS-CoV-2 भी शामिल है, हमारे शरीर स्वाभाविक रूप से यह व्यक्त करने का प्रयास करता है कि वह असामान्य तनाव में है। ऐसे में शरीर तनाव को कई तरह के अजीब तरीकों से बताता है, जिसमें नाखून भी शामिल हैं। नाखून दिखने में अनहेल्दी लगने लगते हैं, जैसे उनमें लाइने, सफेद लाइनें और आधा चांद जैसा आकार नाखून पर बन जाता है।

कोविड संक्रमण के दौरान या बाद में कितने लोग इस समस्या से जूझते हैं, इस बारे में डाटा उलब्ध नहीं है, लेकिन 1 से 2 प्रतिशत कोविड के मरीज़ों के समस्या हो सकती है।

3. बालों का झड़ना

कोविड-19 संक्रमण के एक महीने बाद या फिर कई महीनों बाद बालों के झड़ने से कई रोगी जूझते हैं। हालांकि, इस लक्षण को गंभीर नहीं माना गया है, लेकिन बालों का तेज़ी से गिरना किसी के लिए भी चिंता पैदा कर सकता है। एक स्टडी जिसमें 6000 लोग शामिल थे, जिन्हें कोविड भी हुआ, उनमें से 40 प्रतिशत लोगों में बालों का झड़ना सबसे आम लक्षणों मे से एक पाया गया। अच्छी बात यह है कि कुछ समय बाद सारे बाल वापस आ जाते हैं।

4. सुनाई न देना और टिनाइटस

फ्लू और खसरा जैसे अन्य वायरल संक्रमणों की तरह ही कोविड में भी कई बार संक्रमण के बाद सुनने में समस्या या टिनाइटिस (कान में लगातार बजने वाली आवाज़) देखा गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि कोविड आंतरिक कान में कोशिकाओं को प्रभावित कर सकता है। एक समीक्षा अध्ययन में जिसमें 560 प्रतिभागी शामिल थे, पाया गया कि कोविड के 3.1% रोगियों में सुनने की शक्ति प्रभावित होती है, जबकि 4.5% लोगों को टिनाइटस का अनुभव हुआ।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Edited By: Ruhee Parvez