* उपमा या हलवा बनाने के लिए मोटी तली वाली कड़ाही का इस्तेमाल करें।
* अकसर प्रेशर कुकर की सीटी के साथ दाल बाहर निकल आती है। ऐसी समस्या से बचने के लिए दाल उबालते समय उसके पानी में एक टीस्पून तेल मिलाएं।
* पकौड़े को कुरकुरा बनाने के लिए उसके घोल में थोड़ा कॉर्नफ्लोर या चावल का आटा मिलाएं।
* बैंगन को आग पर भूनने से पहले उस पर हल्का सा तेल लगाएं, इससे छिलका उतारने में आसानी होगी।


मैं जब भी एगलेस केक बनाती हूं तो वह सख्त हो जाता है। इसकी क्या वजह हो सकती है?

आकांक्षा शर्मा, जयपुर

केक के मिश्रण को सही ढंग से न फेंटा जाए तो वह सख्त हो जाता है। अगर मैदा अच्छी क्वॉलिटी का न हो, तब भी ऐसी समस्या हो सकती है। केक को सॉफ्ट बनाने के लिए मैदे को बेकिंग पाउडर के साथ छान लें। अगर एगलेस केक बनाना है तो पहले पिसी हुई चीनी को मक्खन के साथ अच्छी तरह फेंट लें। फिर इस मिश्रण पर चम्मच से छना हुआ मैदा छिड़कते हुए स्पैचुला की मदद से फेंटती जाएं। इसके लिए एक खास तरीका अपनाया जाता है, जिसे कट-एंड फोल्ड कहा जाता है। मिश्रण के बीच स्पैचुला रखकर उसे केक की तरह काटते हुए, हलके हाथों से बायीं ओर फोल्ड करती जाएं। ध्यान रहे, इस मिश्रण के बीच मौज़ूद खाली जगह में हवा भरी होती है, जिससे केक सॉफ्ट बनता है। यह धारणा बिलकुल गलत है कि देर तक फेंटने से केक सॉफ्ट बनता है। इसलिए इसे बहुत ज्य़ादा न फेंटें क्योंकि इससे खाली जगह में मौज़ूद हवा निकल जाएगी और केक सख़्त हो जाएगा।

मेरे पति को नीर डोसा बेहद पसंद है। आप मुझे इसे घर पर तैयार करने की विधि बताएं।

स्वाति रावत, मुंबई

एक कटोरी चावल को 2-3 घंटे तक पानी में भिगोकर रखें और उसे ग्राइंडर में बारीक पीस लें। फिर इसमें स्वादानुसार नमक और पानी मिलाकर पतला घोल बनाएं। नॉनस्टिक तवे पर थोड़ा रिफाइंड ऑयल लगाएं। एक बड़े चम्मच की सहायता से गर्म तवे पर इस घोल को अच्छी तरह फैला कर धीमी आंच पर ढक कर 2 मिनट तक पकाएं। आमतौर पर इसे एक ही तर$फ से सेंका जाता है। अगर आप चाहें तो इसे दोनों तरफ से भी सेंक सकती हैं। फिर इसे नारियल की चटनी के साथ गर्मागर्म सर्व करें।

मुझे गुजराती व्यंजन दाल-ढोकली का स्वाद बेहद पसंद है। आप मुझे इसकी रेसिपी बताएं।

संजना गौड़, मेरठ

एक कटोरी आटे में स्वादानुसार नमक, हल्दी-लाल मिर्च पाउडर और थोड़ा तेल मिलाकर गूंध लें। प्रेशर कुकर में एक कटोरी अरहर की दाल को नमक-हल्दी के साथ तीन सीटी आने तक उबालें। गूंधे आटे से पतली रोटियां बेलें और उन्हें एक समान चौकोर आकार में काट लें। फिर इसे उबली हुई दाल में मिलाकर 15 मिनट तक पकाएं। फ्राइंगपैन में थोड़ा सा तेल डालकर उसमें राई-जीरा, हींग, साबुत लालमिर्च और करी पत्ता डाल कर चटकाएं, फिर उसमें एक बारीक कटा प्याज़ और टमाटर डाल कर अच्छी तरह भूनें। जब टमाटर गल जाए तो उसमें थोड़ा गरम मसाला पाउडर, अमचूर और एक टीस्पून चीनी मिलाकर दो मिनट तक भूनें। अब इस छौंक को तैयार दाल-ढोकली में मिलाकर गर्मागर्म सर्व करें।

मैंने कहीं पढ़ा था कि रागी के आटे में बहुत ज्य़ादा प्रोटीन और फाइबर होता है, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। क्या इससे कुछ टेस्टी डिशेज़ तैयार की जा सकती हैं?

सुरभि रावत, देहरादून

रागी के आटे से कई तरह के स्नैक्स बनाए जा सकते हैं। मसलन आप इसमें दही और बेकिंग सोडा मिलाकर इससे इडली, उत्पम और डोसा बना सकती हैं। सूजी की तरह इसका हलवा भी बहुत स्वादिष्ट होता है। रागी का आटा थोड़ा मोटा होता है। अगर इसे दूध में मिलाकर पकाया जाए तो इससे स्वादिष्ट खीर भी तैयार की जा सकती है।

मैंने लोगों से सुना है कि अनन्नास की बहुत टेस्टी खट्टी-मीठी चटनी बनती है। आप मुझे इसकी रेसिपी बताएं।

मीता भार्गव, इंदौर

कड़ाही में 2 टेबलस्पून रिफाइंड ऑयल गर्म करके उसमें साबुत लाल मिर्च, चुटकी भर कलौंजी-सौंफ, एक टीस्पून घिसी हुई अदरक से छौंक लगाएं। फिर इसमें 300 ग्राम कटे अनन्नास के टुकड़े, चुटकी भर हल्दी पाउडर और नमक डालकर धीमी आंच पर मुलायम होने तक पकाएं। जब यह ठंडा हो जाए तो ब्लेंडर से इसका पेस्ट तैयार कर लें और इसमें 250 ग्राम चीनी मिलाकर दोबारा गाढ़ा होने तक पकाएं। फिर इसमें 2 टेबलस्पून एपल साइडर विनेगर मिलाएं और ठंडा होने के बाद इसे किसी कांच के मर्तबान में पैक करके फ्रिज में रखें।