जिंदगी की आपाधापी से उपजी अकुलाहट, प्रतिस्पर्धा का कहर, अपनों से बढ़ती दूरियां, संवेदनाओं की सिकुड़ती जमीन, काम के बढ़ते घंटे और महत्वाकांक्षाओं की ऊंची उड़ानों ने हमारी जिंदगी को तनाव से भर दिया है। हालांकि, कोमल भावनाओं की टूटती इन कड़ियों के बीच खुश रहने के लिए हमारे पास एक उम्दा उपाय जोक्स या चुटकुले हैं। ये हमारी जिंदगी में जिंदादिली और गर्माहट घोलते हैं। इससे न सिर्फ आसपास की फिजा खुशनुमा बनती है, बल्कि हम बेहतर मानसिक, शारीरिक, सामाजिक जीवन जीने में भी सक्षम होते हैं। साफ तौर पर इसका लाभ हमें करियर की ग्रोथ के रूप में भी मिलता है।

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Doctor Patient:

एक औरत बड़ी परेशान सी अंदर आयी

औरत: मेरी तबियत बहुत खराब है !

डॉक्टर : दवाई लिख देता हूँ, आपको आराम की जरुरत है।

औरत :आपने मेरी जीभ तो देखी ही नहीं ?

डॉक्टर : उसे भी सख्त आराम की जरुरत है।

लड़की शाल ओढ़ के डॉक्टर के पास गयी

लड़की: सुबह से चक्कर से आ रहे हैं।

डॉक्टर: तुम्हारी नब्ज तो ठीक चल रही है, एकदम घड़ी की तरह है।

लड़की : अरे नहीं, आपने गलती से नब्ज की जगह मेरी घड़ी पर हाथ रखा हुआ है।

लड़की: मेरे होंठ कितने खराब हैं

डॉक्टर : प्लास्टिक सर्जरी करा लो।

लड़की: कितने पैसे लगेंगे।

डॉक्टर: छह लाख रुपये।

लड़की: अगर प्लास्टिक मैं खुद ला दूँ तो

डॉक्टर : फेवीकॉल भी लेती आना, फ्री में चिपका दूँगा।

सभी हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि हंसने से हमारा इम्यून सिस्टम बेहतर होता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है, जिससे दिल की बीमारियों की संभावना कम होती है। हम शारीरिक तौर पर भी हल्का महसूस करते हैं, जिससे हमारी याददाश्त भी बढ़ जाती है। खुश रहने वाले व्यक्ति से हर कोई मिलना और संबंध बनाना चाहता है। ऐसे लोग परिवार और समाज के साथ ऑफिस में भी अधिक लोकप्रिय होते हैं। सही समय पर सटीक जोक्स से आप बेरंग माहौल में भी रंग घोल देते हैं। इससे आपकी पर्सनैलिटी आकर्षक होती है और लोग आपकी तरफ खिंचे चले आते हैं।