जागरण संवाददाता, चक्रधरपुर : दक्षिण पूर्व रेलवे की चक्रधरपुर डीविजन अंर्तगत केंद्रपोसी-तालाबुरु के समीप मालगाड़ी की चपेट में आने से रेल कर्मचारी नरसिंह गोप की मौत हो गई। वो 56 साल के थे। डांगोवापोसी में ट्रैकमैन पद पर कार्यरत रेल कर्मचारी ड्यूटी के दौरान बुधवार रात्रि करीब 11.30 बजे मालगाड़ी की चपेट में आ गए। बताया जा रहा है कि रोज की तरह नरसिंह गोप नाईट पेट्रोलिंग ड्यूटी केंद्रपोसी-तालाबुरु स्टेशन अंतर्गत किलोमीटर संख्या किमी संख्य 342 / 25/27 थर्ड लाईन पर ड्यूटी कर रहा थे। तभी अप लाईन से आ रही मालगाड़ी से उसे ठोकर लग गई। घटना में उनके हाथ, पैर व माथा आदि हिस्सों में गंभीर चोट लग गई। घटना की सूचना मिलने के बाद सह रेलकर्मी, संबंधित पदाधिकारी व मेंस कांग्रेस यूनियन के सुभाष मजूमदार सहित अन्य लोगों ने इसकी जानकारी ली। देर रात घायल नरसिंह गोप को जगन्नाथपुर-हाटगम्हरिया मुख्य सड़क किनारे स्थित निजी अस्पताल में भर्ती किया गया। यहां उपचार के बाद नरसिंह की गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने उन्हें अन्य हॉस्पीटल के लिए रेफर कर दिया। परिजन नरसिंह को रेल हॉस्पीटल चक्रधरपुर ले जा रहे थे। इसी क्रम में उन्होंने रास्ते में दम तोड़ दिया। मौत की खबर मिलते ही उसके गांव मालुका व रेलकर्मियों में शोक की लहर दौड़ गई। ट्रेकमैन नरसिंह की मौत पर मेंस कांग्रेस यूनियन के सचिव सुभाष मजुमदार ने दुख प्रकट किया है। मजूमदार ने कहा कि यह घटना जांच का विषय है। हाल में सेफ्टी सेमिनार आयोजित हुआ है। बावजूद आए दिन रेल हादसे का कर्मचारी शिकार हो रहे हैं। घटना का जिम्मेदार कौन है? नरसिंह के परिवार को नौकरी के साथ-साथ मुआवजा व अन्य सभी सुविधाएं गाईडलाइन के अनुसार जल्द मिलनी चाहिए। घटना को लेकर मेंस कांग्रेस यूनियन डीआरएम से भी मिलेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस