संवाद सहयोगी, चाईबासा : मझगांव के ठेकेदार हाजी जहांगीर को पुलिस ने गुरुवार को मझगांव से गिरफ्तार कर लिया है। जहांगीर को पुलिस के साथ धक्का-मुक्की समेत एक दर्जन से अधिक धाराओं में आरोपित बनाया गया है। इस संबंध में प्रेस को जानकारी देते हुए जगन्नाथपुर डीएसपी प्रदीप उरांव ने कहा कि कुमारडुंगी थाना में लड़की को भागने के आरोपित तनवीर अख्तर की गिरफ्तारी के लिए 24 दिसंबर को कुमारडुंगी थाना प्रभारी समेत मझगांव थाना पुलिस की टीम सहयोग करने के लिए महिला पुलिस कर्मियों के साथ गई थी। इस दौरान अपहृत महिला एवं आरोपित को पकड़ने पहुंची पुलिसकर्मियों को रोकते हुए हाजी जहांगीर सहित 15-20 अज्ञात दबंग लोगों ने आरोपित को भगाने में सहायता की। इस दौरान महिला-पुरुष पुलिस कर्मियों के साथ भी धक्का-मुक्की की गई एवं पुलिस की जांच में बाधा उत्पन्न किया गया। उक्त घटना के संबंध में मझगांव थाना में पुलिस पदाधिकारियों के द्वारा लिखित आवेदन के आधार पर प्राथमिकी अभियुक्त हाजी जहांगीर साई एवं 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मझगांव थाना में मामला दर्ज किया गया। डीएसपी ने कहा कि उक्त घटना के अनुसंधान के क्रम में हाजी जहांगीर समेत 15-20 अज्ञात के खिलाफ मामला सत्य पाया गया। जिसमें छापेमारी कर गुरुवार को हाजी जहांगीर को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के बाद हाजी जहांगीर साई ने अपने स्वीकरोक्ति बयान में पुलिस के कार्य में बाधा और आरोपितों को भगाने में अपना दोष स्वीकार कर लिया है। जिसके बाद हाजी को जेल भेज दिया गया। शेष आरोपितों की गिरफ्तारी एवं कुर्की-जब्ती जल्द की जाएगी। डीएसपी प्रदीप ने कहा कि हाजी जहांगीर का पूर्व से आपराधिक इतिहास रहा है। 25 फरवरी 2020 व 10 फरवरी 2017 में झारखंड खनिज विक्रेता नियमावली में भी आरोपित रह चुका है। गिरफ्तारी टीम में शामिल मझगांव थाना प्रभारी आमीर हमजा, अजय कुमार रविदास, देवानंद कुमार, विजय कुमार द्विवेदी समेत पुलिस के जवान व महिला पुलिस कर्मी शामिल थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021