जागरण संवाददाता, चाईबासा : पश्चिम सिंहभूम जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि को देखते हुए जिला प्रशासन भी सकते में है। जिला प्रशासन की ओर से नया कोविड केयर सेंटर तैयार किया जा रहा है। इसमें एक साथ चार से पांच सौ बेड की व्यवस्था की जाएगी। इसको लेकर गुरुवार को उपायुक्त अरवा राजकमल ने टीम के साथ खूंटपानी स्वास्थ्य केंद्र का दौरा किया। मौके पर डीसी ने कहा कि जिले के खूंटपानी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन को कोविड केयर सेंटर के रूप में तब्दील करने के उद्देश्य से परिसर का अवलोकन किया गया है। वर्तमान में जिले में चाईबासा के पाताहातु स्थित डीटीआइ सेंटर कोविड केयर सेंटर के रूप में तैयार है। भविष्य में अगर वायरस संक्रमित की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है तो वैसे व्यक्ति जिनमें संक्रमण का कोई भी लक्षण मौजूद नहीं रहेगा उनका इलाज कोविड केयर सेंटर में रखकर किया जाना है। इसी के तहत दूसरे कोविड केयर सेंटर के रूप में सीएचसी के कुछ हिस्सों का प्रयोग किया जाएगा। जिला प्रशासन इस बात का विशेष ध्यान रख रहा है कि उस क्षेत्र की ग्रामीण जनता को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने में कोई परेशानी ना हो। इसके लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नजदीकी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर जहां पूर्व से ही एल-1 फैसिलिटी उपलब्ध है। उस केंद्र पर गर्भवती महिलाओं के इलाज के लिए समुचित व्यवस्था प्रशासन के द्वारा की जाएगी। उन्होंने कहा कि उक्त सीएचसी में भी चिकित्सक की उपस्थिति में अति आवश्यक सेवा प्रारंभ रहेगी। जिसका प्रवेश और निकास द्वार की व्यवस्था अलग से रखा जाएगा, ताकि उस क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति को कोई अन्य अति आवश्यक चिकित्सा सेवा की आवश्यकता हो तो उन्हें तत्काल सेवा उपलब्ध हो। ऑक्सीजन सिलेंडर युक्त 50 आधुनिक बेड है तैयार

उपायुक्त ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी जंग में जिला प्रशासन को स्थानीय विधायक से प्राप्त सहयोग के तहत उप विकास आयुक्त एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों की देखरेख में उक्त सीएचसी केंद्र पर अच्छे आधारभूत संरचना का निर्माण करते हुए ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्धता सहित 50 आधुनिक बेड की व्यवस्था की गई है। यदि हमलोग पूर्व से ही 400 से 500 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था रखेंगे तो अगर भविष्य में कभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या ज्यादा हो जाती है। विशेषकर जिनकों स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या नहीं है या संक्रमण का कोई भी लक्षण मौजूद नहीं है तो ऐसे व्यक्तियों को हम लोग कोविड केयर सेंटर में रखकर इलाज कर सकते हैं। किसी भी गंभीर परिस्थिति या आइसीयू की आवश्यकता या ऑक्सीजन, वेंटिलेटर की जरूरत होगी तो वैसे व्यक्तियों को कोविड-19 समर्पित रेलवे अस्पताल चक्रधरपुर में इलाज के लिए भर्ती किया जाएगा। खूंटपानी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण के दौरान जिला उपायुक्त के साथ उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन, मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. ओम प्रकाश गुप्ता, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. साहिर पॉल, सर्विलांस पदाधिकारी डॉ. संजय कुजूर सहित प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस