जागरण संवाददाता, चाईबासा : कोल्हान प्रमंडल के पश्चिमी सिंहभूम में पुलिस की शह पर कुजू नदी से धड़ल्ले से बालू का उठाव हो रहा है। नदी से बालू उठाव को लेकर प्रतिदिन झारखंड सरकार को राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है, लेकिन इस काले कारोबार को रोकने की कोई पहल न जिला प्रशासन और न पुलिस प्रशासन की ओर से किया जा रहा है। इस कारण अवैध धंधे में शामिल लोगों का मनोबल बढ़ गया है। बालू तस्कर दिन दहाड़े व रात के अंधेरे में या अहले सुबह कुजू नदी के विभिन्न घाटों से बालू का उठाव अनवरत कर रहे हैं, जिसे चोर रास्ते होते हुए आपूर्ति स्थान तक भेजा जाता है। इस धंधे में शामिल लोगों को प्रशासन का तनिक भी भय नहीं है। बता दें कि सदर प्रखंड के कुजू नदी के आयता, कुर्सी, मोदी, बड़ा जयपुर, बरकुंडिया बालू घाट सहित राजनगर थाना के कुजू बालू घाट से बालू तस्कर दिन-रात अवैध बालू का उठाव कर आयता गांव में भंडारण कर रहे हैं। यहां से ग्राहकों को जरूरत के हिसाब से डंपर, हाईवा व ट्रैक्टर से आपूर्ति स्थान तक भेजा जाता है। जानकारी के अनुसार हर दिन कुजू नदी से लगभग तीन सौ ट्रैक्टर बालू लोडकर सदर प्रखंड व राजनगर प्रखंड के दोनों थाना क्षेत्रों के निर्धारित स्थानों तक पहुंचाया जाता है। बालू उठाव को लेकर पुलिस को प्रति ट्रैक्टर नजराना पेश किया जाता है। बालू घाटों के निरीक्षण के क्रम में नदी से ट्राली में लाद रहे चालकों से जब अवैध बालू उठाव की बात की गई तो उनका कहना था कि जब पुलिस को पैसे देते है तो बालू का उठाव तो करेंगे। इसलिए अहले सुबह से ही ट्रैक्टरों के माध्यम से बालू उठाव का काम करते हैं। इसमें कई बालू घाट तो अवैध भी है। स्थानीय प्रशासन कार्रवाई के नाम पर कभी-कभार दो चार बालू लदे ट्रैक्टरों को अवश्य ही पकड़ कर कोरम पूरा कर रहा है। पश्चिम सिंहभूम कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष रंजन बोयपाई ने कहा कि सरकार के राजस्व का हनन किया जा रहा है। इसपर पुलिस को अंकुश लगाने के लिए पहल करनी चाहिए।

-----------

कुजू नदी अंतर्गत आने वाले आयता घाट में हो रहे बालू के अवैध उत्खनन व परिचालन को रोकने के लिए खान निरीक्षक के नेतृत्व में एक टीम को भेजा जायेगा। अगर वहां कोई भी अवैध गतिविधि संचालित होती पायी गयी तो निश्चित कार्रवाई की जायेगी।

- संजीव कुमार, जिला खनन पदाधिकारी, चाईबासा

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस