चाईबासा, जासं। झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के चाईबासा से हलकान करने वाली घटना सामने आई है।यहां चाईबासा इंजीनियरिंग काॅलेज के प्रथम वर्ष के एक छात्र ने यौन शोषण से तंग आकर चाईबासा के महुलसाई स्थित तालाब में कूदकर आत्महत्या कर ली।

सदर पुलिस ने गुरुवार को तालाब से छात्र का शव बरामद कर सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम करा दिया। इस बीच छात्र के आत्महत्या करने की खबर जब इंजीनिरिंग के छात्रों को हुई तो काॅलेज में हंगामा खड़ा कर दिया। छात्रों का आरोप था कि मृतक ने प्रथम वर्ष के वाट्सएप ग्रुप में बुधवार की देर शाम ही अपना सुसाइड नोट शेयर किया था। कुछ छात्रों ने काॅलेज के हाॅस्टल इंचार्ज मनोज मंडल को वाट्सएप से मैसेज कर इसकी जानकारी दे दी थी मगर उन्होंने लापरवाही बरती और छात्र के बारे में किसी तरह की जानकारी लेने की कोशिश नहीं की।

प्रोफेसरों को नाराज छात्रों ने बनाया बंधक

नाराज छात्रों ने काॅलेज के प्रशासनिक भवन के गेट में ताला जड़कर सभी प्रोफेसरों को करीब दो घंटे तक बंधक बनाए रखा। इस बीच छात्रों के हंगामा करने की सूचना मिलने पर चाईबासा से सदर डीएसपी अमर कुमार पांडेय शाम साढ़े पांच बजे दल-बल के साथ काॅलेज पहुंच गए। उन्होंने सभी छात्रों से घटना के बारे में जानकारी ली। छात्रों ने इस मामले में गहनता से जांच करने व हास्टल इंचार्ज को निलंबित करने की लिखित मांग की। एसडीपीओ ने छात्रों को निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया।

तीन छात्र लिए गए हिरासत में

आक्रोशित छात्रों को शांत करने के बाद छात्र के साथ यौन शोषण के आरोपित छात्र सुमित कुमार चौबे, महेश कुमार पंडित और शिव शंकर कुमार को हिरासत में लेकर डीएसपी चाईबासा आ गए। यहां तीनों से गहनता से पूछताछ की जा रही है। मृतक छात्र बोकारो का रहनेवाला था। पुलिस काॅलेज से बरामद सुसाइड नोट की भी सत्यता की जांच कर रही है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस