चाईबासा, जेएनएन। झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल इंचार्ज मनोज मंडल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस कॉलेज के प्रथम वर्ष के छात्र ने तालाब में कूदकर जान दे दी थी। उसने सुसाइड नोट में सहपाठी द्वारा यौन शोषण को खुदकशी का कारण बताया था। 

शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा और सिंहभूम की सांसद गीता कोड़ा ने कॉलेज पहुंचकर घटनाक्रम की जानकारी ली। मधु कोड़ा ने कॉलेज पहुंचते ही मनोज मंडल पर इस्तीफा देने का दबाव बनाया। उन्होंने कहा कि इस कॉलेज की स्थापना काफी मशक्कत के बाद हुई थी। वे छात्रों का भविष्य किसी भी सूरत में बर्बाद नहीं होने देंगे। कोड़ा के दबाव देने पर प्रबंधन ने मनोज मंडल से इस्तीफा लिखवाया। 

की थी शिकायत की अनदेखी

छात्र का शव गुरुवार को तालाब से बरामद किया गया था। छात्र के खुदकशी की खबर के बाद छात्रों ने जमकर विरोध जताया था। छात्रों का कहना था कि बुधवार को ही मृतक छात्र ने सुसाइड नोट प्रथम वर्ष के छात्रों के वाट्सएप ग्रुप पर शेयर किया था। इसकी जानकारी हॉस्टल इंचार्ज मनोज मंडल को  दी गई थी। उन्होंने लापरवाही बरती और छात्र के बारे में किसी तरह की जानकारी लेने की कोशिश नहीं की।

तीन छात्र लिए गए हैं हिरासत में

छात्र के साथ यौन शोषण के आरोपित छात्र सुमित कुमार चौबे, महेश कुमार पंडित और शिव शंकर कुमार को गुरुवार को ही हिरासत में ले लिया गया था। तीनों से पूछताछ की जा रही है। मृतक छात्र बोकारो का रहनेवाला था। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस