जागरण संवाददाता, सरायकेला : सीनी ओपी पुलिस ने 22 अप्रैल को कमलपुर गांव के बरामद गांधी चौक निवासी 30 वर्षीय राजू कैवर्त हत्याकांड का उद्भेदन किया है। इस मामले में पुलिस ने मृतक की बड़ी भाभी सरिता कैवर्त समेत उसके प्रेमी कमलपुर गांव निवासी अमीर हुसैन उर्फ बीर सिंह व अमीर के जीजा पश्चिम बंगाल के ससुलडीह निवासी शेख शमशेर को गिरफ्तार किया है। सरायकेला थाना के सर्किल इंस्पेक्टर आलोक कुमार दुबे ने थाना प्रभारी मनोहर कुमार, एएसआइ गौरव मिश्रा व एएसआइ नीतीश कुमार के साथ ने प्रेस वार्ता कर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सीनी ओपी पुलिस ने 22 अप्रैल की सुबह कमलपुर गांव के समीप पलाश की झुरमुट से अज्ञात व्यक्ति का शव बरामद किया था। धारदार हथियार से गला रेतकर उसकी हत्या की गई थी। जांच के क्रम में मृतक की पहचान 30 वर्षीय राजू कैवर्त के रूप में की गई थी। मृतक के पिता बरजो कैवर्त ने 21 अप्रैल को सीनी ओपी में सनहा दर्ज कराया था। उन्होंने सनहा में 20 अप्रैल की शाम से छोटे बेटे राजू के लापता होने की सूचना दी थी। इस आधार पर सरायकेला पुलिस ने अज्ञात अपराधकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया था। सरायकेला अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राकेश रंजन के नेतृत्व में गठित टीम में सर्किल इंस्पेक्टर आलोक कुमार दुबे, थाना प्रभारी मनोहर कुमार, एएसआइ गौरव मिश्रा व एएसआइ नीतीश कुमार समेत पुलिस बल शामिल थे। पेशेवर तरीके से इस कांड का उद्भेदन कर अपराधियों की गिरफ्तारी की गई। शादी के बाद देवर को मिलता पैतृक संपत्ति में हिस्सा : गिरफ्तार आरोपितों व मृतक की भाभी सरिता कैवर्त ने पुलिस को बताया कि देवर के साथ अक्सर उसकी लड़ाई होती थी। घटना के दो दिन बाद युवक की शादी होने वाली थी। शादी के बाद देवर को पैतृक संपत्ति में से हिस्सा मिलता। इसलिए शादी से पहले ही देवर की हत्या करा दी। तीनों आरोपितों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त धारदार चाकू, बाइक समेत मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया है। न्यायिक प्रक्रिया पूरा करने के बाद आरोपितों को जेल भेज दिया गया। ऐसे हुआ मामले का उद्भेदन : मछली का कारोबार करने वाले राजू कैवर्त की शादी 24 अप्रैल को होने वाली थी। 22 अप्रैल से उसके घर पर हल्दी की रश्म शुरू होने वाली थी। तभीश्राजू कैवर्त की लाश मिलने की खबर घर पहुंची और घर पर शुशी का माहौल मातम में बदल गया। पुलिस ने बताया कि मछली के कारोबार को लेकर राजू कैवर्त 19 अप्रैल को बड़बिल गया हुआ था। 20 अप्रैल को ट्रेन से वापस लौटने के बाद उसने फोन कर अपने आने की सूचना घरवालों को दी थी। यह जानकारी मिलते ही राजू की बड़ी भाभी सरिता ने अपने प्रेमी अमीर हुसैन को इस बात की सूचना दी, जिसके बाद अमीर अपने जीजा शेख शमशेर के साथ सीनी स्टेशन पहुंचे और राजू कैवर्त से परिचित होने के कारण साथ हो लिए। इसके बाद वाइन शॉप से उन लोगों ने शराब खरीदी। पुलिस ने वाइन शॉप के आसपास के लोगों से पूछताछ की तो जानकारी मिली कि राजू को लंबे गोल्डन कलर बाल वाले व्यक्ति के साथ देखा गया था। इस आधार पर अमीर व शेख शमशेर समेत उसकी बड़ी भाभी सरिता को गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि बड़ी भाभी सरिता के प्रेम संबंध को लेकर तीन माह पूर्व राजू व सरिता के बीच झगड़ा भी हुआ था।