संसू, गम्हरिया : औद्योगिक क्षेत्र गम्हरिया स्थित फ्यूजन इंजीनियरिंग कंपनी मे मजदूरों के बकाए वेतन व अन्य मागों को लेकर उप श्रमायुक्त के निर्देश पर शुक्रवार को आयोजित त्रिपक्षीय वार्ता दोबारा विफल रही। कंपनी परिसर में आयोजित बैठक में प्रशासनिक ओर से श्रम अधीक्षक राकेश कुमार सिन्हा, कारखाना निरीक्षक मनीष कुमार सिन्हा और कामगारों की ओर से उनके प्रतिनिधि एकता विकास मंच के अध्यक्ष अरविन्द कुमार मिश्रा उपस्थित हुए। किन्तु कंपनी प्रबंधन की ओर से वार्ता में किसी प्रबंधन प्रतिनिधि के उपस्थित नहीं होने से कोई निर्णय नहीं लिया जा सका। श्रम अधीक्षक ने बताया कि प्रबंधन के एक अधिकारी ने मैसेज भेजकर बताया है कि मजदूरों के सेंटलमेंट का बकाया राशि 90 लाख में से मात्र 60 लाख रुपये देने को तैयार है। किन्तु मजदूर कम वेतन सेटलमेंट लेने के लिए तैयार नहीं हुए। बताया गया कि कंपनी प्रबंधन अपने अड़ियल रुख पर कायम है और मजदूरों के समक्ष आकर बात करने को वे तैयार नहीं है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए श्रम अधीक्षक तथा कारखाना निरीक्षक द्वारा वरीय अधिकारियों को जानकारी देते हुए प्रबंधन पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मजदूर यूनियन की ओर से एकता विकास मंच के अध्यक्ष मिश्रा ने प्रबंधन के अड़ियल रुख को गंभीरता से लेते हुए मजदूरों के आन्दोलन को और तेज करते हुए उनका हक नहीं मिलने तक संघर्ष जारी रखने की बात कहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस