जासं, सरायकेला : सरायकेला-खरसावां जिले के सरायकेला थाने के धातकीडीह गांव में करीब डेढ़ वर्ष पूर्व कथित उन्मादी भीड़ के हमले में घायल और जेल में हुई चोरी के आरोपित तबरेज अंसारी की मौत का मामला अब लोगों के जेहन से लगभग उड़ चला है। लेकिन, पुलिस अब भी मामले पर निगाह रख रही है। घटना में चोरी गए दो मोबाइल के खरीदार खरसावां प्रखंड के कदमडीहा गांव निवासी आरिफ अंसारी को पुलिस ने धर दबोचा है।

बताया गया कि आरिफ चोरी के मोबाइल की खरीद बिक्री करता है। कई बार जेल जा चुका है। जांच कर रहे थाना प्रभारी सनोज कुमार चौधरी ने उसे गिरफ्तार किया है। मालूम हो कि तबरेज अंसारी की मौत के बाद संसद में भी काफी हंगामा हुआ था। देश भर में यह चर्चा का विषय बना था।

---------

सर्विलांस पर थे दोनों मोबाइल :

17 जून, 2019 को यह घटना हुई थी। हेमसागर प्रधान और राजेश प्रमाणिक के घर से दो मोबाइल चोरी होने का मामला दर्ज कराया गया था। पुलिस ने मोबाइल का ईएमआइ पता करने के लिए सर्विलांस पर रखा था। दो दिन पहले दोनों मोबाइल जैसे ही ऑन हुए, पुलिस आरिफ के घर पहुंच गई। उसे मोबाइल के साथ दबोच लिया।

----

भीड़ ने की थी तबरेज की पिटाई, बाद में हो गई थी मौत :

17 जून 2019 को धातकीडीह गांव में चोरी के बाद ग्रामीणों ने मौके पर खदेड़ कर एक आरोपित खरसावां के कदमडीहा निवासी तबरेज अंसारी को पकड़ा लिया। रात के अंधेरे का लाभ उठाकर उसके दो अन्य साथी मोहम्मद इरफान व नुमेर अली फरार हो गए। दोनों के स्वजन ने थाने में गुमशुदगी तक का मामला दर्ज नहीं कराया। उस रात हेमसागर प्रधान, राजेश प्रमाणिक और कमल महतो के यहां चोरी हुई थी। तबरेज अंसारी की भीड़ ने पिटाई की थी। पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस ने तबरेज को मेडिकल जांच कराने के बाद जेल भेज दिया था। तीन दिन बाद सेहत बिगड़ने पर सरायकेला मंडल कारा से सदर अस्पताल लाया गया। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

------------------

Edited By: Jagran