---चरवाहा विद्यालय के मैदान में एक तरफ राहुल गांधी का भाषण चल रहा था तो दूसरी ओर कुछ बच्चे मैदान के किनारे गड्ढे में जमा पानी में मौजूद छोटी छोटी मछलियों को पकड़ने में मशगूल थे। ---छोटे-छोट बच्चों की उत्सुकता राहुल गांधी को देखने सुनने से ज्यादा हेलीकॉप्टर देखने में थी। कई छोटे छोटे बच्चे अपने पापा के कंधे पर सवार होकर हेलिकाप्टर देख रहे थे। मंच संचालक भी इस बात को समझ रहे थे। भीड़ कम देखकर उन्होंने माइक से ही कहा अभी कुछ ही देर में दो-दो हेलीकॉप्टर यहां आएगा। ---चप्पे चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। पुलिस प्रशासन चौकस थी। एक एक व्यक्ति की मेटल डिटेक्टर से जांच की गई। चरवाहा विद्यालय के मैदान में दो दर्जन से अधिक वाहन पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के थे। ---मंच पर कांग्रेस, झामुमो व राजद के जिलाध्यक्ष मौजूद थे। तीनों ने भाषण भी दिया पर कांग्रेस व झामुमो को छोड़कर किसी अन्य पार्टी का झंडा कार्यक्रम के दौरान नहीं दिखा। ---श्रोताओं के दर्शक बनने से पत्रकार दीर्घा में मौजूद पत्रकारों को कवरेज में हुई परेशानी। पीछे बैठे लोग अपने आगे लगी कुर्सी को बार बार हटाने की मांग कर रहे थे। इसे लेकर कई बार हंगामा भी हुआ। एक व्यक्ति ने तो यहां तक कहा कि अगर अभी यह हाल है तो आगे क्या होगा? --पहली बार राजमहल में आयोजित किसी राजनीतिक जनसभा में एक साथ दो हेलिकाप्टर के आगमन से क्षेत्र के लोगों में बढ़ी कौतुहलता। ---हेमंत सोरेन ने करीब पांच मिनट और राहुल गांधी ने लगभग 25 मिनट किया जनसभा को संबोधित। ---राहुल गांधी की एक झलक पाने को राजमहलवासी बेकरार दिखे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस