उधवा(साहेबगंज): उधवा प्रखंड कार्यालय के अधूरे भवन का जीर्णोद्धार कार्य का शुभारंभ स्थानीय विधायक अनंत कुमार ओझा ने मंगलवार को किया। एनआरइपी विभाग के अधीन लगभग एक करोड़ 28 लाख की लागत से अधूरे भवन का जीर्णोद्धार किया जाएगा। आठ माह के अंदर भवन निर्माण का कार्य पूरा कर दिया जाएगा। विधायक अनंत कुमार ओझा ने कहा कि लंबे समय से प्रखंड भवननिर्माण का कार्य अधूरा पड़ा था जिससे सरकारी कार्य संपन्न करने की परेशानी हो रही थी। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए उन्होंने प्राथमिकता के आधार पर योजना की स्वीकृति प्रदान कराई।

उधवा के ऐतिहासिक धरोहर उद्धवमुनी आश्रम का भी जीर्णोद्धार तथा सुंदरीकरण के लिए विधायक निधि से लगभग दस लाख की राशि खर्च की जाएगी। कार्य की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। निर्माण लागत से दोगुनी राशि खर्च होगी। जीर्णोद्धार में अधूरे प्रखंड भवन का निर्माण कार्य वर्ष 2008 में एक करोड़ से अधिक की लागत से निर्माण कार्य किया गया था जिसे ठेकेदार ने अधूरा छोड़ दिया था। इस संबंध में निर्माता एजेंसी को ब्लैकलिस्टेड कर दिया गया था जिसे लेकर ठेकेदार ने झारखंड उच्च न्यायालय में चुनौती देते हुए रिट दाखिल की थी। नतीजा यह हुआ कि मनरेगा भवन के दो कमरे में ही उधवा प्रखंड कार्यालय आजतक चल रहा है। आमजन व प्रशासनिक कार्यों में कठिनाइयों का सामना हो रहा था। विधायक अनंत ओझा के समक्ष  कई बार अवगत कराया गया था। तकनीकी अड़चन के समाधान के बाद मंगलवार को जीर्णोद्धार कार्य का शुभारंभ किया गया। राजमहल विधानसभा क्षेत्र के ही  राजमहल व साहेबगंज प्रखंड कार्यालय का निर्माण कार्य साढ़े छह करोड़ की लागत से चल रहा है।

मौके पर बीडीओ उधवा राजेश एक्का, विक्रम सरकार, बैद्यनाथ दास, सुनील प्रमाणिक, बेचन मंडल, सुबोल रविदास, धनंजय मंडल सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran