बरहेट (साहिबगंज) : बरहेट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में शुक्रवार को सर्दी-खांसी से प्रभावित एक युवती अपनी जांच कराने पहुंची। इससे वहां हड़कंप मच गया। युवती में कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका व्यक्त करते हुए बरहेट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक डॉक्टर तापस मुर्मू, डॉ दिलीप कुमार व डॉक्टर जियाउर रहमान ने उसे साहिबगंज रेफर कर दिया।

बताया जाता है कि युवती विगत एक माह पूर्व दिल्ली से लौटी है। इसके बाद से उसे मंगलवार से खांसी के अलावा सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही थी। वह शुक्रवार को बरहेट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर जांच कराने आई थी। उसे कोरोना वायरस संक्रमित सस्पेक्टेड बताया जा रहा है। इसके साथ ही बरहेट हाटपाड़ा के एक युवक के केरल से लौटने के बाद उसकी भी जांच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में की गई। उसे 14 दिनों तक चिकित्सक ने घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी। शुक्रवार को बरहेट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना के सस्पेक्टेड मरीज के पहुंचने के बाद स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा अस्पताल की साफ सफाई की गई। ओपीडी के अलावा पूरे परिसर की अच्छी तरह से साफ सफाई की गई। मौके पर स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा छिड़काव भी किया गया।

108 एंबुलेंस नहीं मिलने पर हुई मुश्किल : शुक्रवार को बरहेट समुदाय स्वास्थ्य केंद्र में सस्पेक्टेड होने के बाद 108 एंबुलेंस के लिए जब कॉल किया गया तो कॉल अटेंड करने वाली महिला ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित लोगों के लिए एंबुलेंस सेवा उपलब्ध नहीं है। इस संबंध में जब पूछा गया कि क्या विभाग द्वारा कोई पत्र निर्गत किया गया है तो इस मामले में किसी भी तरह की जानकारी देने से उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की। इस संबंध में चिकित्सक डॉक्टर तापस मुर्मू ने बताया कि सस्पेक्टेड मरीज को रेफर करने के लिए 108 एंबुलेंस से साहिबगंज भेजा जाना था पर उपलब्ध नहीं हो सका। अस्पताल में स्थित एंबुलेंस से ही मरीज को साहिबगंज रेफर किया गया।

--------

वर्जन :::

बरहेट से एक मरीज को सदर अस्पताल रेफर किया गया था। यहां उसकी जांच-पड़ताल की गई है। अन्य वजह से उसे सर्दी-खांसी थी। वैसे उसपर नजर रखी जा रही है। लोगों को डरने की जरूरत नहीं है।

डॉ. डीएन सिंह, सिविल सर्जन

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस