रांची, जासं। शादी का सीजन आते ही बाजार में रौनक बढ़ गई है, आजकल लोग डिजाइनर से बनवाए हुए कपड़े पहनना पसंद कर रहे हैं। लोग खुद के डिजाइन पहनना पसंद कर रहे हैं और इसलिए लोग महीनों पहले से अपने मनपसंद डिजाइन तैयार करवाने में जुटे हैं। शहर के डिजाइनर कहते हैं की फैशन हर पल बदलता है मगर शादियों के इस सीजन में प्रिंट का जलवा बरकरार है। बड़े-बड़े डिजाइनर प्रिंट को न सिर्फ रोजमर्रा के कपड़ों में बल्कि पारम्परिक और ब्राइडल परिधान में भी इस्तेमाल कर रहे हैं।

सीजन में होती है ज्‍यादा डिमांड : डिजाइनर के अनुसार शादी का सीजन आते ही उनके पास कई नए ऑर्डर आ रहे हैं। 50 प्रतिशत तक ऑर्डर बढ़ गए हैं। शहर के लोगों में डिजाइनर कपड़ों का क्रेज बढ़ गया है। युवा अपनी शादी को यादगार बनाना चाहते हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए ज्यादा पैसे खर्च करने से भी नहीं कतराते हैं।

प्रिंट की मांग : इस सीजन में ब्राइडल कपड़ों में भी प्रिंट का इस्तेमाल किया जा रहा है। फैब्रिक चाहे हल्के जार्जेट हों या भारी वेलवेट। इसमें की गई हेवी गोल्डन एम्बॉयडरी खूब पसंद की जा रही है। डिजाइनर ब्राइडल कलर में मरून, वाइन कलर, गोल्डन कलर का खूब इस्तेमाल कर रहे हैं। इन पर ऐसी कारीगरी की जाती हैं कि यह दुल्हन को एक अलग लुक देते हैं।

जरदोजी एंब्रॉयडरी भी खास :  भारी गोल्ड जरदोजी एंब्रॉयडरी लहंगों और ब्राइडल कपड़ों पर ऐसे किया जाता है मानों प्रिंट किया गया है। शादियों का मौसम शुरू हो गया है। ऐसे में अगर आप एक नए लुक में दिखना चाहती हैं। पेस्टल शेड पर फ्लोरल प्रिंट पसंद किया जा रहा है। शादी की भागदौड़ में अक्सर युवतियां भारी-भरकम कपड़े पहन कर परेशान हो जाते हैं। ऐसे में हल्के प्रिंट के कपड़े साथ में गोल्डन एंब्रॉयडरी की साड़ी शादी के मौके के लिए बेहतरीन हैं।

रेशम व शिफॉन की साड़ी : रेशम या शिफॉन की साड़ी एक भारी काम वाले ब्लाउज के साथ आश्चर्यजनक लगती है। इस तरह के ब्लाउज की डिजाइन बहुत खूबसूरत लगते है और किसी भी शादी या औपचारिक समारोह में लहंगे या साड़ी के साथ पहनने के लिए आदर्श होते हैं। शहर के डिजाइनर ऐसे ही ब्लाउज का विकल्प लोगों को उपलब्ध करा रहे हैं।

डिजाइनर ब्लाउज व सिंपल साड़ी है पहली पसंद : शादी के लिए भारी रेशमी साडिय़ों के लिए ब्लाउज के डिजाइन इन दिनों मांग में हैं। रेशम, जाली और शादी की साडिय़ों के लिए डिजाइनर ब्लाउज बना रहे हैं डिजाइनर्स। शादी के ब्लाउज डिजाइन को कुंदन काम, जरदोजी का काम, स्टोन का काम, कढ़ाई आदि के साथ अनुकूलित किया जा रहा है जो की ब्लाउज को उत्तम दर्जे का बना देते हैं। ब्लाउज अब सिर्फ सादे सूती या रेशम की नहीं होती, यह जॉर्जेट, क्रेप, शिफॉन, लाइक्रा, मखमल और अन्य मिश्रणों से बनती हैं और इस साल यही डिमांड में हैं।

क्या कहते हैं डिजाइनर : इस वेडि़ंग सीजन में कई लोग हमारे पास आ रहे हैं खुद के पसंद के डिजाइन बनवाने के लिए। आजकल सभी कुछ अलग चाहते हैं और जब बात शादी की हो तो लड़कियां सबसे अलग दिखना चाहती हैं। इस बार प्रिंट को क्रेज देखा जा रही है, जहां प्रिंट को स्पोर्टी लुक के लिहाज से पहना जा सकता हैं वहीं इसमें देसी लुक भी दिया गया हैं।

चिकनकारी मेटाफिक, पैचवर्क, एम्ब्रायडरी हर चीज का इस्तेमाल किया जा रहा हैं। प्रिंट न सिर्फ कैजुअल बल्कि पारंपरिक परिधानों की भी शोभा बढ़ा रहे हैं। डिजाइनर प्रिंट को न सिर्फ युवाओं के कुर्ते और जैकेट में इस्तेमाल कर रहे हैं बल्कि मुगलकाल के जैसे लहंगे में भी नए फैशन की तरह इस्तेमाल हो रहे हैं। इस साल हल्के फैब्रिक पसंद किए जा रहे हैं।  संगीता मोदी, डिजाइनर

क्या कहती हैं युवतियां : शादी के लिए रेडिमेड कलेक्शन की भी बाजार में भरमार है लेकिन उसमें अपने पसंद के डिजाइन ढ़ूंढना मुश्किल है। डिजाइनर से अपने पसंद के डिजाइन बनवा सकते हैं। पेस्टल कलर का लहंगा मैं बनवा रही हूं। तान्या, ग्राहक

जरी वर्क चाहिए या मोती का काम, डिजाइनर से किसी भी तरह का डिजाइन बनवाया जा सकता है। अपने हिसाब से फैब्रिक का भी चुनाव कर सकते हैं। मैंने प्रिंट पर जरी का काम करवाया है अपने लहंगे पर। सुषमा, ग्राहक।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस