मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रांची, जासं। मारवाड़ी भवन में रविवार को  राज्यभर के व्यापारी दोबारा मतदान के लिए जुटेंगे। आठ सितंबर को मारवाड़ी भवन में आयोजित चुनाव तकनीकी कारणों से रद हो गया था, इसके बाद चुनाव समिति ने 14 सितंबर को दोबारा चुनाव कराने का निर्णय लिया है। हालांकि इस बार चुनाव ऑनलाइन की जगह ऑफलाइन प्रक्रिया से होगा। शनिवार को यह जानकारी चुनाव पदाधिकारी विष्णु बुधिया व पवन शर्मा ने दी। वहीं चैंबर चुनाव के इतिहास में यह दूसरा मौका है। जब दोबारा चुनाव होगा। इससे पहले 2007-08 में मनोज नरेड्डी और रंजीत टिबड़ेवाल के बीच चुनाव हुआ था। जिसमें तीन चार बैलेट इधर, उधर होने के कारण चुनाव रद करना पड़ा था।
यह होगी चुनाव प्रक्रिया
मतदान के दौरान प्रत्येक कंप्यूटर के साथ एक प्रिंटर भी लगाया जाएगा। और प्रत्येक कंप्यूटर में पड़े बैलेट का प्रिंट निकालकर सुरक्षित रखा जाएगा। जिसका उपयोग किसी भी कंप्यूटर में पड़े मतदान को रैंडम तरीके से चेक करने के लिए किया जाएगा।
चुनाव समिति ने किए दो नए बदलाव
इस बार चुनाव समिति ने चुनाव में दो नए बदलाव किए हैं। पहला, इस बार चुनावी उम्मीदवार दोनों ओर खड़े होकर वोट की अपील नहीं करेंगे। बल्कि इसके लिए विशेष स्टैंड बनाया जाएगा। जहां वे बैठकर वोटरों से वोट की अपील करेंगे। दूसरा, इस बार चुनाव ऑनलाइन की जगह ऑफलाइन  होगा।
उम्मीदवारों को सता रही मतदान फीसद की चिंता
चुनाव निर्धारित समय सुबह नौ बजे से शुरू होगा। जो देर शाम छह बजे तक चलेगा। जहां पहली बार चुनाव सर्वर की भेंट चढ़ गया। वहीं दोबारा चुनाव की घोषणा के बाद से ही उम्मीदवारों को मतदान फीसद की चिंता सताने लगी थी। उम्मीदवारों का स्पष्ट कहना है कि राज्य के साहिबगंज, पाकुड़, गोड्डा आदि जिलों से आने व्यापारियों में उत्साह कम है। जिसका सीधा असर वोट फीसद पर पड़ेगा।
परिणाम आने में हो सकती है देरी
ऑनलाइन की जगह ऑफलाइन प्रक्रिया से चुनाव होने के कारण इस बार चुनाव परिणाम आने में देरी हो सकती है। चुनाव समिति ने शनिवार को बताया कि देर रात तक चुनाव परिणाम आ सकते हैं। लेकिन किसी विशेष परिस्थिति में चुनाव के अगले दिन चैंबर भवन में मतों की गणना की जाएगी।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप