रांची, राज्य ब्यूरो। Triple Murder in Ranchi रांची के सदर थाना क्षेत्र के बडग़ाईं में शुक्रवार रात विशेष शाखा के जवान ब्रजेश तिवारी (40) ने अपनी पत्नी रीना तिवारी (35), बेटी खुशबू कुमारी (15) व पुत्र बादल तिवारी (13) की हथौड़े व चाकू से मार कर हत्या कर दी। तीनों को मारने के बाद जवान ने खुद भी जहरीला पदार्थ खाकर जान देने की कोशिश की। ब्रजेश तिवारी को पुलिस ने रिम्स में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर है।

ब्रजेश तिवारी ने पुलिस को बताया है कि वह अपनी पुत्री के प्रेम प्रसंग से परेशान था। बेटी के प्रेम-प्रसंग के शक में ही शुक्रवार की रात करीब आठ बजे पत्नी और बेटी से बहस हुई। बात बढ़ी तो गुस्से में ब्रजेश ने हथौड़ा तथा चाकू से हमला कर तीनों की हत्या कर दी। मृतकों के गर्दन में चाकू व सिर के विभिन्न हिस्सों में हथौड़े से चोट लगने के गहरे जख्म मिले हैं।

मूल रूप से पलामू के रेहला थाना क्षेत्र के तुलरा गांव का रहने वाला ब्रजेश तिवारी अपने पूरे परिवार के साथ बडग़ाई के चित्रगुप्त नगर के बगल में स्थित ब्रिटिश पब्लिक स्कूल के पास लदेव साहू के मकान के प्रथम तल्ले में किराए पर रहता है। वर्तमान में वह विशेष शाखा के डीएसपी मनीष टोप्पो का चालक है। उसकी ससुराल गढ़वा में कुड़ीकामता गांव में है। रांची के बडग़ाईं निवासी बलदेव साहू के मकान में वह डेढ़ साल से किराए पर रह रहा था। पीसीआर-9 के पदाधिकारी के बयान पर चालक जवान ब्रजेश तिवारी के खिलाफ सदर थाने में हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। सदर पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

शनिवार सुबह इस तिहरे हत्याकांड की खबर से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मौके पर पुलिस के अलावा बड़ी संख्या में आसपास के लोग जमा हो गए थे। लोगों का कहना था कि जवान सनकी स्वभाव का था। जवान की बेटी खुशबू बरियातू रोड स्थित सेवेंथ डे स्कूल में दसवीं कक्षा में और बेटा उसी स्कूल में आठवीं कक्षा में पढ़ता था।

पुलिस ने सिपाही ब्रजेश तिवारी को लिया हिरासत में, किया गया निलंबित

सदर पुलिस ने हत्या के आरोपित सिपाही ब्रजेश तिवारी को हिरासत में ले लिया है। उसे पुलिस मुख्यालय ने निलंबित भी कर दिया है। घटनास्थल से चाकू, हथौड़ा व शराब की बोतल भी बरामद हुई है। फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने भी आवश्यक छानबीन कर साक्ष्य संकलित किया है, जिसकी जांच की जाएगी। मृतकों के नेल क्लिपिंग व बिसरा को सुरक्षित रखा गया है, ताकि उसकी फॉरेंसिक जांच कराई जा सके।

घटना के दिन ही मायके से लौटी थी पत्नी

आरोपित चालक सिपाही ब्रजेश तिवारी की पत्नी रीना तिवारी 25 जनवरी को गढ़वा स्थित मायके गई थी। रांची में बेटा-बेटी के साथ ब्रजेश थे। शुक्रवार की सुबह करीब पांच बजे रीना रांची लौट गईं। ब्रजेश की मकान मालकिन अनिता देवी ने बताया कि शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे खुशबू पानी लेने के लिए नीचे आई तो बताया कि उसकी मां मायके से लौट आई है। सुबह 10 बजे ब्रजेश ड्यूटी चला गया।

डीएसपी मनीष टोप्पो के अनुसार शुक्रवार शाम करीब सात बजे ब्रजेश ने उनसे कहा था कि उसकी पत्नी ट्रेन से रांची आ रही है, उसे रिसीव करने वह रेलवे स्टेशन जा रहा है। इसके बाद वह वहां से निकल गया। रात करीब 10 बजे ब्रजेश ने अपने ससुर व भतीजे को फोन कर बताया कि उसने सबको मार दिया है। ब्रजेश के भतीजे ने रांची के पंडरा में रहने वाली ब्रजेश की बहन को फोन कर इस बात की जानकारी दी।

अपनी पत्नी के साथ बृजेश तिवारी (फाइल फोटो)।

इसी मकान के ऊपरी तल्ले में रहता था बृजेश तिवारी और उसका परिवार। ब्रजेश ने जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की है रिम्स में चल रहा है इलाज।

ब्रजेश की बहन व बहनोई उमेश कुमार तिवारी (पीसीआर-28 के चालक सिपाही) रात करीब 11 बजे बडग़ाईं पहुंचे और मकान मालिक बलदेव साहू से दरवाजा खुलवाया। तब तक मकान मालिक को भी घटना की जानकारी नहीं थी। सभी ऊपर के तल्ले में पहुंचे तो घर का दरवाजा खुला पाया। कमरे में ब्रजेश तिवारी पत्नी के शव के पास नशे में धुत होकर बैठा था। बेड के नीचे फर्श पर बेटी व बेटे की भी लाश पड़ी थी। उसने बताया कि पत्नी और बेटा-बेटी को मारने के बाद उसने भी खुदकशी की नीयत से जहरीला पदार्थ खा लिया है। सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंची। थोड़ी देर में एसएसपी, सिटी एसपी भी पहुंचे और नशे में धुत ब्रजेश तिवारी को रिम्स ले जाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस