जागरण संवाददाता, रांची : मधुकम व न्यू मधुकम कॉलोनी में न तो नाली की सुविधा है, और न ही सफाई की। मधुकम क्षेत्र का खेत मोहल्ला जहां वर्षो पहले खेत ही खेत था। अब इस क्षेत्र में कई मकान बन चुके हैं। फिर भी घरों से निकलने वाले गंदा पानी की निकासी के लिए अब तक नाली का निर्माण नहीं हो सका। इसके साथ ही इस इलाके में नगर निगम के कूड़ा वाहन आते ही नहीं हैं। इसी प्रकार, न्यू मधुकम स्थित देवी मंडप रोड में सड़क किनारे नाली निर्माण हो रहा है। निर्माण कार्य के दौरान नाली में बह रहे गंदे पानी की निकासी बंद कर दी गई है। नतीजतन मोहल्ले के खाली भूखंड पर पिछले 10 दिनों से जलजमाव की स्थिति बनी हुई है। इस जगह से कुछ दूर आगे कच्ची नाली से होकर गंदा पानी का बहाव हो रहा है। कच्ची नाली के दोनों ओर कूड़ा ही कूड़ा भरा पड़ा है। कूड़े की स्थिति देख यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्थानीय लोग किस प्रकार इस क्षेत्र में जी रहे हैं। इस क्षेत्र में नगर निगम की ओर से सफाई ही नहीं की जाती। दिनोंदिन आबादी बढ़ती जा रही है। फिर भी सफाई के प्रति अधिकारी गंभीर नहीं हैं।

- रमेश गुप्ता, स्थानीय निवासी।

-----

कूड़ा वाहन नहीं आने के कारण अधिकांश लोग खुले स्थानों पर ही कूड़ा फेंकते हैं। इस क्षेत्र में नाली का भी अभाव है।

- सुनीता साहु, स्थानीय निवासी।

----

नगर निगम के 53 वार्डो में सबसे खराब स्थिति मधुकम क्षेत्र की ही है। इस क्षेत्र में न तो सफाई होती है और न ही मच्छरों से बचाव के लिए फॉगिंग।

- मदन कुमार, स्थानीय निवासी।

------

नगर निगम क्षेत्र में होने के बावजूद भी यह क्षेत्र निगम की सुविधाओं से वंचित है। यदि नियमित रूप से सफाई कार्य कराए जाएं तो स्थिति में सुधार संभव है।

- किशोर कुमार, स्थानीय निवासी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस