रांची, राज्य ब्यूरो। 20 वीं पशु गणना की रिपोर्ट ने पूरे देश का ध्यान आकृष्ट किया है। झारखंड के परिपेक्ष्य में देखें तो रिपोर्ट खासी उत्साहित करने वाली है। राज्य में मवेशियों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। पशुगणना रिपोर्ट यह बता रही है कि झारखंड में मवेशियों की संख्या में वर्ष 2012 के मुकाबले 2019 में 28 फीसद से अधिक की वृद्धि हुई है, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर मवेशियों की संख्या में इस अवधि में 4.6 फीसद  का इजाफा हुआ है। 20 वीं पशुगणना के आंकड़े राष्ट्रीय स्तर पर बुधवार को पेश किए गए थे।

झारखंड में मवेशियों की संख्या 8.7 मिलियन से बढ़कर 11.2 मिलियन तक पहुंच गई है। राज्य में बकरियों की संख्या में भी खासा इजाफा हुआ है। झारखंड में बकरियों की संख्या 2012 में जहां 6.58 मिलियन थी वह 2019 में बढ़कर 9.12 मिलियन हो गई है। इस दौरान 38.59 प्रतिशत का भारी इजाफा हुआ है।

गदहों की संख्या में आयी कमी

झारखंड से बेहतर प्रदर्शन सिर्फ पश्चिम बंगाल ने किया है। वहां इस दौरान 41 फीसद की वृद्धि देखने को मिली। वहीं, सूअर की संख्या मेंं 32.69 फीसद की वृद्धि हुई। वर्ष 2012 में राज्य में इनकी संख्या 0.96 मिलियन थी जो 2019 में बढ़कर 1.28 मिलियन हो गई है। हां, राष्ट्रीय रिपोर्ट में झारखंड के संदर्भ में गधों का कोई जिक्र नहीं किया गया है। जाहिर है पूरे देश की तर्ज पर राज्य में गधों की संख्या में भारी कमी आई है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप