रांची, राज्य ब्यूरो। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि डबल इंजन का दम भरने वाली भाजपा का एक इंजन अपराध तथा दूसरा भ्रष्टाचार का है। उन्होंने दावा किया कि आरएसएस के इंटर्नल सर्वे में झारखंड की स्थिति अच्छी नहीं बताई गई है। झारखंड की रघुवर दास की सरकार इससे परेशान है। कहा कि सरकार ने अगर वास्तव में विकास का काम किया है, तो वह ब्रांडिंग पर करोड़ों क्यों लूटा रही है। वे रविवार को प्रदेश युवा राजद की ओर से रांची स्थित हरमू मैदान में आयोजित 'जनाक्रोश रैली' को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने इस दौरान मंच से 'भाजपा सरकार भगाओ, झारखंड बचाओ' का नारा बुलंद किया। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव ने कहा कि राजद महागठबंधन का पक्षधर रहा है। लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में बिखराव की स्थिति नहीं होनी चाहिए। यह चुनाव नहीं, चुनौती है, जो राज्य को एक नई दिशा देगा। हम मिलकर लड़ेंगे और जीतेंगे। राजद नेता तेजस्वी ने इस बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार पर भी जमकर प्रहार किया।

कहा कि देश आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है। पिछले 70 वर्षों में ऐसी स्थिति नहीं हुई, जो इस सरकार के 70 महीने के कार्यकाल में हुआ। हर भारतीय के खाते में 15-15 लाख रुपये डालने, हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने, विदेशों में काला धन लाने आदि की बात महज जुमला साबित हुआ है। इस अवधि में छोटे-छोटे कारखाने बंद हो गए। बेरोजगारी का ऐसा आलम पहले कभी नहीं था।

सरकार के लिए यह कोई मुद्दा नहीं है। मुद्दा है तो बस मंदिर-मस्जिद, कश्मीर, पाकिस्तान और इमरान। अब सरकार एनआरसी (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस) के पीछे पड़ी है। चिन्मयानंद, राम रहीम और आशा राम बापू के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा। कहा कि योगी युवाओं से कहते हैं, डिग्री के पीछे मत भागो। फिर कोई बताए, युवा कहां जाएं, क्या करें।

बीमार पिता से मिलने को क्या रघुवर सरकार से लेनी होगी अनुमति

तेजस्वी ने कहा कि मौसम खराब रहने की वजह से वे शनिवार को देर से रांची पहुंचे। शनिवार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद से तीन लोगों को मिलने का आदेश जेल प्रशासन ने दे रखा है। जेल मैन्युअल के मुताबिक विशेष परिस्थिति में किसी भी सजायाफ्ता से उसके परिवार के सदस्य को मिलने की इजाजत दी जा सकती है, परंतु यहां की सरकार के इशारे पर एक बेटे को बाप से मिलने और उनसे आशीर्वाद लेने की अनुमति नहीं मिली।

सूत्रों से जानकारी मिली, बिना सरकार की अनुमति के नहीं मिल सकता। तो क्या एक बेटे को अपने बीमार पिता से मिलने के लिए रघुवर दास की अनुमति लेनी होगी। हालांकि, रविवार की शाम को तेजस्वी यादव ने रिम्स में अपने पिता लालू प्रसाद से मुलाकात कर ली।

जेल भेज दो या दे दो फांसी, हम शेर हैं, नहीं डरेंगे

बिहार के नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि लालू प्रसाद को जब भाजपा अपनी शर्तों पर नहीं झुका सकी, तो सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। जब लालू यहां भी नहीं माने, तो परिवार के एक-एक सदस्यों पर मुकदमा दायर कर दिया, ताकि लालू घबरा जाएं। खुद मेरे ऊपर 35 मुकदमे हैं। लालू शेर हैं और हम उनके बेटे। हम पलटू चाचा (बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार) नहीं हैं, जो सत्ता के लिए पलट जाएं। भाजपा चाहे उन्हें जेल भेजे या फांसी पर चढ़ा दे, वे राजद की नीति और सिद्धांतों से पलटने वाले नहीं हैं।

इन्होंने भी रखी बातें

प्रदेश राजद के प्रभारी व पूर्व केंद्रीय मंत्री जयप्रकाश नारायण यादव, प्रदेश राजद अध्यक्ष अभय कुमार सिंह, प्रदेश युवा अध्यक्ष अनिल यादव, पूर्व सांसद घूरन राम, पूर्व विधायक संजय यादव, सत्यानंद भोक्ता, सुरेश पासवान, सुभाष यादव आदि।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप