रांची, जासं। कोरोनो के कारण लॉकडान होने से अब डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विवि 14 अप्रैल तक बंद रहेगा। उधर लॉकडान की घोषणा हुई और इधर विवि शिक्षक उपाय ढूंढने लगे कि छात्र-छात्राओं का सिलेबस कैसे पूरा करें। इसी क्रम में एमसीए विभाग के आइटी इंचार्ज डाॅ. आइएन साहू ने एक साॅफ्टवेयर डेवलप कर छात्राें को सिलेबस के अनुसार शिक्षकों का लेक्चर उपलब्ध कराने की व्यवस्था कर लिया।

डीएसपीएमयू के वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.डीएसपीएमयूरांची.एसी.इन पर शिक्षक टॉपिक्स के अनुसार ब्लॉग लिखेंगे। इससे विद्याथी अपनी तैयारी करेंगे। दो दिनों की मेहनत से साफ्टवेयर तैयार हो गया है और शिक्षकों ने ब्लाॅग लिखना शुरू भी कर दिया है। वीसी डॉ. एसएन मुंडा और रजिस्ट्रार डॉ. एनडी गोस्वामी ने शिक्षकों के प्रयास की सराहना की है।

शिक्षक ऐसे लिखें ब्लॉग

सभी शिक्षकों को आइडी व पासवर्ड दे दिया गया है। ब्लॉग लिखने के लिए अपने प्रोफाइल में जाएंगे। यहां मैसेज ब्लॉग में क्लिक करने के बाद ब्लाॅग टाइटल लिखेंगे। इसके बाद इच्छानुसार हिंदी या अंग्रेजी में विषय से संबंधित बातें लिखकर  पबलिश् यानी सबमिट पर ओके करेंगे तो वह संबंधित विभाग में चला जाएगा।

जो शिक्षक कंप्यूटर फ्रेंडली नहीं हैं वे पेज पर विषय से संबंधित टॉपिक्स लिखकर उसकी फोटो खींचकर अपलोड कर सकते हैं। यदि एक बार में किसी टॉपिक्स पर पूरा नहीं लिख पाए हैं तो जितना लिखे हैं उतना ही ड्राफ्ट में सेव कर लें। बाद में इसे कंटीन्यू कर सकते हैं। किसी तरह की समस्या होने पर डाॅ. आइएन साहू के मोबाइल 9334294016  पर कॉल कर सकते हैं।

विद्यार्थी ऐसे पढ़ सकेंगे

विद्यार्थी शिक्षकों के ब्लॉग पढ़ने के लिए वेबसाइट पर जाएं। वहां डिपार्टमेंट में जाएंगे तो अलग-अलग शिक्षकों का ब्लॉग देिखेगा। टाइटल पर क्लिक करने से डिटेल्स मिलेगा। ब्लॉग पढ़ने के बाद कहीं डाउट होने पर संबंधित शिक्षक को मैसेज कर डाउट भी किल्यर कर सकेंगे।

चार शिक्षकों का छह टॉपिक्स पर ब्लॉग

डीएसपीएमयू के वेबसाइट पर बुधवार तक चार शिक्षकों का ब्लॉग उपलब्ध हैं। इसमें एमसीए पर डाॅ. आइएन साहू का दो, अंग्रेजी पर डॉ. विनय भरत का दो, ज्योग्राफी पर डॉ. अभय सिंह और एंथ्रोपलॉजी पर डॉ. अभय सागर मिंज का एक-एक टॉपिक पर ब्लॉग लिखा हुआ है।

'कुलपति के निर्देश पर ब्लाॅग लिखने के बारे में शिक्षकों को जानकारी दे दी गई है। किसी तरह की समस्या होने पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं। वीसी का उद्देश्य है कि छात्र घर में सिलेबस के अनुसार तैयारी करें।' -डॉ. आइएन साहू, आइटी इंचार्ज, डीएसपीएमयू।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस