जागरण संवाददाता, रांची : स्तंभ संस्था ने केरलकार्ट के सहयोग से अपर हटिया के गनयोर टोली, गिरजा टोली, गढ़ा टोली, ढीपाटोली, थेथर टोली के 60 बच्चों के बीच हवाई चप्पल का वितरण किया गया। इस कार्यक्रम में स्तंभ के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार, सचिव कुणाल शर्मा, राकेश शरण, बाल्मीकि पांडे, उदय सिंह, ब्वायज टूटी, सावित्री, पुनीता एवं बस्ती के लोग मौजूद थे।

जगन्नाथपुर मंदिर परिसर को अतिक्रमण मुक्त करे प्रशासन

जासं, रांची: बडकागढ रैयत जनमंच की बैठक जगन्नाथपुर स्थित देवी घर प्रार्थना भवन में आयोजित की गयी। बैठक की अध्यक्षता जनमंच के अध्यक्ष कैलाश यादव ने किया। बैठक में बदकागढ के 32 गांवो के रैयत और एचईसी के विस्थापित प्रतिनिधि शामिल हुए। कई लोगों ने भाषण के दौरान अपने अपने विचार व्यक्त किए। मंच के संरक्षक नवीन नाथ शाहदेव ने कहा कि बड़कागढ़ क्षेत्र देवभूमि है। आए दिन परिसर इलाके को अतिक्रमित किया जा रहा है। प्रशासन को जगन्नाथपुर टोला, भूसुर मौजा क्षेत्रों को अतिक्रमण मुक्त कराने की पहल करनी चाहिए। कार्यक्रम में जनमंच के अध्यक्ष कैलाश यादव ने कहा कि वर्ष 1958 - 60 में देश के विकास के लिए प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की दूरदर्शिता के कारण एकीकृत बिहार में एचईसी को भारी उद्योग कारखाना चलाने के लिए शर्त एवं नियमानुसार बड़कागढ़ के 32 गांव के रैयतों ने लगभग 9200 एकड़ जमीन दी थी। इकरारनामे में यह तय हुआ था कि एचईसी इंडस्ट्रीज, टाउनशिप और पानी के लिए डैम का इस्तेमाल करेगी, और तमाम रैयतों से लिए गए जमीन के एवज में नौकरी के साथ अन्य तरह का मुआवजा दिया जाएगा। एचईसी ने शर्त एवं नियम का उल्लंघन कर रैयतों के साथ वादा खिलाफी की। आज तक ना ही मुआवजा दिया नहीं बची हुई जमीन वापस की गई। कार्यक्रम को मोखतार अंसारी, सूरज नाथ शहदेव, सुरेश सिंह, अनवारूल अंसारी, रामकुमार सिंह, परवेज खान, सत्यप्रकाश प्रजापति, विश्वजीत शहदेव, सहित अन्य ने संबोधित किया।

Edited By: Jagran