जागरण संवाददाता, रांची। देश में 53 फीसद बच्चों के साथ यौन शोषण होता है। हर एक घंटे में आठ बच्चों की चोरी और दो के साथ दुष्कर्म होता है। अब इस दिशा में सभी को आगे आना होगा और आवाज उठानी होगी। यह बातें नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी ने सोमवार को राजकीय अतिथिशाला में आयोजित प्रेसवार्ता में कही।

उन्होंने कहा कि न्यायालयों में 15 हजार मामले बाल उत्पीड़न के चल रहे हैं। इसमें से चार फीसद मामलों में सजा हुई है और छह फीसद मामलों में लोग बरी हो चुके हैं।

उन्होंने बताया कि इन सभी मामलों को लेकर भारत यात्रा विभिन्न शहरों से निकाली जा रही है, जो 16 अक्टूबर को दिल्ली पहुंचेंगी। उनके इस अभियान में धर्मगुरु का सहयोग भी मिल रहा है। उन्होंने बताया कि झारखंड सहित अन्य राज्यों में किशोरों को माओवादी एवं अन्य संगठन पत्थरबाजी के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः बाल यौन उत्पीड़न के खिलाफ कैलाश सत्यार्थी की भारत यात्रा

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप