रांची : टाटा स्टील कंपनी एक बार फिर सामाजिक जवाबदेही के प्रति आदिवासी प्रतिभाओं को मंच मुहैया कराने जा रहा है। लगातार चौथे वर्ष आयोजित हुए इस कार्यक्रम संवाद-2017 में विभिन्न क्षेत्रों में आदिवासियों का प्रतिनिधित्व कर रहे 500 आदिवासियों को आमंत्रित किया गया है। स्थापना दिवस के अवसर पर कंपनी हर वर्ष यह कार्यक्रम आयोजित करती है। 15 से 19 नवंबर तक आयोजित कार्यक्रम में खेल, सांस्कृतिक आयोजन, खानपान, व्यवसाय और विभिन्न क्षेत्रों से आदिवासी प्रतिभा पहुंचेंगे।

कार्यक्रम को लेकर कंपनी के चीफ कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिब्लिटी बिरेन भूटा ने बताया कि विभिन्न सामाजिक संगठनों और टाटा स्टील के क्षेत्र में कार्यरत लोगों के सुझाव से इन युवाओं का चयन किया गया है। लगातार चौथे साल आयोजित हो रहे इस संवाद में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, केन्या और जिम्बावे के प्रतिनिधियों के साथ-साथ देश के 21 राज्यों के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे। 103 जनजातियों और 127 जिलों का प्रतिनिधित्व इस सम्मेलन में होगा। कार्यक्रम आदिवासी युवाओं की महत्वाकांक्षा और भविष्य के नेतृत्व विषय पर केंद्रित है। युवा अपने संघर्ष की व्याख्या करते हुए सफलता की कहानी बताएंगे। नोबल पुरस्कार प्राप्त मो. युनूस, पद्मश्री से सम्मानित शानता सिन्हा समेत कई जानीमानी हस्तियां कार्यक्रम में मौजूद रहेंगी। इस दौरान नागा कुश्ती, असम के हांबी के पाठू, संथाल के काठी और हो जनजातियों के प्रसिद्ध खेल सेक्कोर का आयोजन किया जाएगा। इसके साथ ही आदिवासी व्यंजन और दवाओं को लेकर भी विशेष आयोजन दिखेगा। ट्राइबल हैंडीक्राफ्ट की प्रदर्शनी भी इस दौरान होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस