जागरण संवाददाता, रांची : राजधानी में गुरुवार की रात से चल रही लगातार बारिश से शुक्रवार को शहर के विभिन्न इलाकों में जलभराव हो गया। पानी से सड़कें लबालब हो गईं। अपार्टमेंटों में पानी घुस गया है। सड़कें नाला बनी हुई हैं। जल भराव से रिम्स व सदर में भी मरीजों को दिक्कत रही। जलभराव से लोगों को परेशानी हो रही है।

नगर निगम ने दावा किया था कि बरसात से पहले ही नाले और नालियों की सफाई करा ली गई है। लेकिन इस बारिश ने इस इस दावे की पोल खोल दी है। लोग नगर निगम को फोन कर जलभराव खत्म करने के लिए मशीन की मांग करते रहे। ज्यादातर इलाकों में उनकी मशीन नहीं पहुंची। इसलिए नगर निगम के प्रति लोगों में नाराजगी है। मौसम विभाग का मानना है कि एक अगस्त तक बादल छाए रहेंगे और बरसात होती रहेगी।

लगातार चल रही बारिश से कोकर, लालपुर, कांटा टोली, पथलकुदवा, रातू रोड, कडरू, डोरंडा, हिदपीढ़ी आदि इलाके में भयंकर जलभराव है। पंडरा के पंचशील नगर में पूरे मोहल्ले में जलभराव है। सड़क पर घुटने भर पानी है। पंचशील नगर के लोग घर से नहीं निकल पा रहे हैं। पंडरा में बैंक आफ इंडिया के पास जल भराव होने से परेशानी हुई। यहां 17 दुकानों में पानी भर गया। इससे दुकानदारों को हजारों का नुकसान हुआ है। अरगोड़ा में कटहल मोड़ में जल भर गया है। यहां अपार्टमेंट की पार्किंग में लोगों के कमर तक पानी घुस गया है। लोगों ने इसकी सूचना नगर निगम के अधिकारियों को देनी चाही लेकिन कोई फोन नहीं उठा रहा है। बहू बाजार में चर्च रोड पर जलभराव है। कचहरी रोड पर हलधर प्रेस गली हमें भी जलभराव है। जेल तालाब के बगल में लाइन टैंक रोड में भी जलभराव से लोगों को परेशानी हो रही है। कोकर में भी जल भराव रहा। यहां के विभिन्न मोहल्लों में नालियां जाम होने से पानी का बहाव काफी धीमा रहा। इस वजह से सड़कें लबालब रहीं। कांटाटोली के रमजान कालोनी में नाला ओवरफ्लो होने से सड़क पर पानी भर गया। इससे लोगों को घर से निकलने में दिक्कत हुई। यही नहीं, इस इलाके में कई घरों में नाले का गंदा पानी घुस गया। बताते हैं कि इस मोहल्ले में हमेशा बरसात में नाले का गंदा पानी ओवर फ्लो होने के बाद कई घरों में घुस जाता है। लोगों ने नगर निगम से इस परेशानी को दूर करने को आवेदन दिया था।

---

अरगोड़ा-कटहल मोड़ सड़क पर कर दी बैरीकेडिग

अरगोड़ा से कटहल मोड़ जाने वाली सड़क पर चार फीट तक पानी भर गया था। इस सड़क पर पानी इस कदर भरा हुआ था कि कारें मुश्किल से निकल पा रही थीं। कई लोगों की कारें पानी में घुसने के बाद बंद हो गईं। लोगों ने काफी कोशिश की मगर कार स्टार्ट नहीं हुई तो ठेल कर निकालना पड़ा। यहां दिक्कत बढ़ी तो बस्ती के लोगों ने बैरीकेडिग कर सड़क बंद कर दी।

------

एकलव्य टावर में घरों में कैद हुए 70 परिवार

सड़क किनारे स्थित एकलव्य टावर की पार्किंग पूरी तरह डूब गई। पार्किंग में खड़े वाहन भी डूब गए। कारों की छतें ही दिखाई दे रही थीं। यहां रहने वाले सुनील कुमार ने बताया कि वाहन बरबाद हो गए हैं। लोगों का हजारों रुपये का नुकसान हुआ है। मुसीबत जो झेल रहे हैं सो अलग। एकलव्य टावर के रहने वाले रमेश कुमार ने बताया कि पार्किंग में लगभग सात फीट तक पानी भर गया था। इससे यहां रहने वाले तकरीबन 70 परिवार घरों में कैद हो कर रह गए। पानी भरने से लिफ्ट ने भी काम करना बंद कर दिया।

--------

धुर्वा में सड़क पर गिरा पेड़

धुर्वा में बीच सड़क पर पेड़ गिरने से लोगों को काफी दिक्कत हुई। सूचना मिलने पर नगर निगम की टीम पहुंची और पेड़ को काट कर हटाया। इसके बाद इस सड़क पर आवागमन बहाल हुआ। हरमू रोड पर भाजपा के प्रदेश कार्यालय के सामने भी पानी भर गया। पैदल चलने वालों को भी दिक्कत हुई। अरगोड़ा चौक पर भी पानी भर गया। थड़पखना में सड़क पर नाले का पानी बह रहा था। नाले की सारी गंदगी सड़क पर आने से बदबू फैल गई। पैदल चलने वालों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ा। डेली मार्केट में भी जल भराव से दुकानदारों को दिक्कत हुई। इसके अलावा, विद्या नगर, लाइन टैंक रोड, बड़ा तालाब टेलीफोन एक्सचेंज, मेकान आफिस, चडरी तालाब, हलधर प्रेस गली, रातू रोड, कोकर, मौलाना आजाद कालोनी, पथल कुदवा, आजाद बस्ती आदि इलाके में जल भराव रहा।

-----------------------

निजाम नगर में 55 घरों में पानी घुस गया था

तेज बरसात से राजधानी के निजाम नगर में छोटा तालाब उफान पर रहा। यहां भी पानी लबालब होने के बाद ओवरफ्लो होने से मोहल्ले में पानी भर गया। यहां तकरीबन 55 घरों में पानी भर गया। इससे लोगों के घरों में रखा सामान बरबाद हो गया। सोफा भीग गए और अलमारी में भी पानी घुस गया। लोगों ने अपने सामान तख्त पर रखे। कई घरों के लोगों को बाहर आना पड़ा। लोग अपने बच्चों को लेकर अपने रिश्तेदारों के घर पहुंच गए और वहां पनाह ली।

------

रिम्स व सदर अस्पताल में पानी घुसने से मरीज रहे परेशान

रिम्स व सदर अस्पताल में भी तालाब जैसा नजारा रहा। रिम्स के आर्थो वार्ड में पानी घुस गया। इससे मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ी। मरीज बाहर आ गए। न्यूरो वार्ड के बरामदे में प्लास्टिक ओढ़ कर मरीज बैठे हुए थे। रिम्स के सफाई कर्मी सुबह से ही वार्डों से पानी निकलाने की कवायद में जुटे रहे। वो जितना पानी निकालते थोड़ी ही देर में उससे ज्यादा पानी भर जाता। रिम्स और सदर अस्पताल में जल भराव की वजह से अफरा तफरी की स्थिति रही।

-------

अरगोड़ा में हुआ विरोध प्रदर्शन

अरगोड़ा में लोगों ने सड़क पर उतर कर नगर निगम का विरोध किया। लोग जल भराव होने का विरोध कर रहे थे और इसके लिए नगर निगम को जिम्मेदार ठहरा रहे थे। विरोध करने वालों में एकलव्य टावर के सचिव गौरव वर्मा भी थे। गौरव वर्मा ने बताया कि नाली नहीं होने से सड़क पर पानी भर जाता है। नाली होती तो पानी बह कर निकल जाता। नाली नहीं होने से सड़क का सारा पानी बह कर अपार्टमेंट में घुस गया। नगर निगम तीन साल से कह रहा है कि 15 वें वित्त आयोग योजना से यहां सड़क व नाली बनेगी। मगर, ऐसा कब होगा ये पता नहीं चल पा रहा है। अपार्टमेंट के अध्यक्ष का कहना है कि जब से मानसून शुरू हुआ है इस इलाके में जल भराव है। सड़क भी खराब है। नगर निगम इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है।

-------

हरमू नदी लबालब

लगातार हो रही बारिश से हरमू नदी लबालब हो गई है। इस नदी में हमेशा गंदा पानी और कीचड़ रहता था। मगर, गुरुवार की रात से हो रही बरसात में नदी उफान पर आ गई है। भुसुर नदी, हिनू नदी, स्वर्णरेखा नदी भी भर गई है।

-----

Edited By: Jagran