रांची, जेएनएन। मनचलों से परेशान रिम्स नर्सिंग कॉलेज की करीब 200 छात्राओं ने शनिवार की रात करीब दस बजे बरियातू थाने का घेराव कर दिया। उनका कहना था कि आए दिन उनके छात्रावास में मनचले चारदीवारी फांदकर घुस रहे हैं, जिससे वे दहशत में रहती हैं। इसकी शिकायत पूर्व में हॉस्टल की वार्डन व रिम्स प्रबंधन से भी कर चुकी हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। थाने का घेराव कर रही छात्राओं से डीएसपी सदर दीपक पांडेय व बरियातू थानेदार सपन कुमार महथा ने बातचीत की और कार्रवाई का भरोसा भी दिया, लेकिन छात्राएं थाने से जाने को तैयार नहीं थीं।

आक्रोशित छात्राओं ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार की रात करीब 11 बजे एक मनचला गर्ल्‍स हॉस्टल में घुस गया था जो हल्ला होने पर भागा। वहीं, शनिवार की रात करीब नौ बजे एक अन्य मनचला छात्रावास में घुसा तो छात्राओं ने उसे पकड़कर धुन दिया। वह खुद को रिम्स का ही कर्मी बता रहा था। मौका पाकर वह किसी तरह वहां से भाग तो गया, लेकिन छात्राएं आक्रोशित हो उठीं और लाठी-डंडा लेकर थाने पहुंच गईं।

डीएसपी व थानेदार छात्राओं से हॉस्टल चलने को कह रहे थे, ताकि वह घटनास्थल को देख सकें, लेकिन छात्राएं त्वरित न्याय चाह रही थीं और देर रात तक थाने में जमीं रहीं। देर रात समझाने के बाद व आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद सभी वापस हुईं।

छात्राओं ने आवेदन देकर बताई आपबीती

रिम्स नर्सिंग कॉलेज की छात्राओं ने बरियातू थाने मं एक आवेदन भी दिया है। आवेदन में बताया है कि उनके छात्रावास में अनजान व्यक्तियों का आना-जाना लगा रहता है। ये असामाजिक तत्व नशे में अपशब्दों का प्रयोग भी करते हैं और डराते हैं। छात्रावास की खिड़कियों को भी बजाते हैं। इसकी शिकायत छात्राओं ने निदेशक डीके सिंह, वार्डन ममता टोप्पो को भी दी, लेकिन कुछ नहीं हुआ। इसलिए थककर सभी थाने में शिकायत कर रही हैं, ताकि ऐसे तत्वों से छुटकारा मिल सके।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस