नीरज अम्बष्ठ, रांची : राज्य सरकार ने कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसरों (व्याख्याताओं) की नियुक्ति के लिए आवश्यक अर्हता और शर्ते तय कर दी हैं। इसी के साथ राज्य में दस साल बाद हो रही असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति का रास्ता भी साफ हो गया है। पांचों विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसरों के कुल 865 पदों पर नियुक्ति होगी। उच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग ने इस संबंध में रेगुलेशन अधिसूचित कर दिया।

इसके तहत असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति में अकादमिक उपलब्धियों, अनुभव, रिसर्च व प्रकाशन पर अधिकतम 85 अंक (अकादमिक उपलब्धियां 75 अंक, अनुभव पांच अंक तथा प्रकाशन पांच अंक) मिलेंगे, जबकि साक्षात्कार 15 अंकों का ही होगा। यह नियुक्ति झारखंड लोक सेवा आयोग के माध्यम से होगी, जिसके लिए आयोग सेलेक्शन कमेटी का गठन करेगा। आयोग नियुक्ति के लिए आवेदन देनेवाले अभ्यर्थियों की स्क्रूटनी कर कुल रिक्तियों के तीन गुना अभ्यर्थियों को साक्षात्कार में बुलाएगा। आयोग द्वारा विषयवार मेरिट सूची तैयार की जाएगी। यह मेरिट सूची कुल रिक्तियों की दो गुना तैयार होगी, हालांकि विश्वविद्यालयों को कुल पदों के अनुसार ही नियुक्ति की अनुशंसा की जाएगी। मेरिट सूची एक साल के लिए वैध होगी।

नेट या जेट उत्तीर्ण होना अनिवार्य

इस पद पर नियुक्ति के लिए संबंधित विषय में 55 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातकोत्तर के अलावा नेट या जेट उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। हालांकि 11 जुलाई 2009 से पहले पीएचडी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को नेट या जेट उत्तीर्ण होने से छूट प्रदान की गई है। स्नातकोत्तर में अनिवार्य 55 फीसद अंक में एससी, एसटी, ओबीसी तथा दिव्यांगों को पांच फीसद की छूट दी गई है। नियुक्ति के लिए अधिकतम उम्र 50 साल निर्धारित है। हालांकि इसमें एससी व एसटी के अलावा पीएचडी उत्तीर्ण व दिव्यांगों को पांच साल तथा ओबीसी को तीन साल की छूट दी जाएगी।

किसमें कितना वेटेज (अधिकतम)

मैट्रिक : 10 अंक

इंटरमीडिएट : 10 अंक

स्नातक : 18 अंक

स्नातकोत्तर : 22 अंक

पीएचडी/नेट/जेट : 15

साक्षात्कार : 15

पोस्ट पीएचडी रिसर्च/शिक्षण अनुभव : 05 अंक

पब्लिकेशन : 05 अंक

कुल : 100 अंक

पीएचडी/नेट/जेट के लिए निर्धारित अधिकतम अंक

जेआरएफ पीएचडी : 15 अंक

नेट या जेट (जेआरएफ के बिना) के साथ पीएचडी : 12 अंक

नेट या जेट (पीएचडी के बिना) : 09 अंक

पीएचडी (नेट या जेट के बिना) : 09 अंक

11 जुलाई 2009 से पहले पीएचडी के लिए निबंधित : 09 अंक

रिसर्च व शिक्षण अनुभव पर अंक

पोस्ट पीएचडी रिसर्च अनुभव -पोस्ट डाक्टोरल फेलो, रिसर्च एसोसिएट या रिसर्च साइंटिस्ट आदि : प्रत्येक छह माह के लिए एक अंक तथा प्रत्येक एक साल के लिए तीन अंक।

शिक्षण अनुभव : प्रत्येक छह माह के लिए एक अंक तथा प्रत्येक एक साल के लिए तीन अंक।

प्रकाशन पर अंक

- यूजीसी से सूचीबद्ध जनरल में प्रकाशन : एक अंक प्रति पेपर

- नेशनल या इंटरनेशनल सिम्पोजियम या सेमिनार में बेस्ट पेपर अवार्ड : एक अंक प्रति पेपर

- किताब लेखन : 1.25 अंक प्रति किताब।

-किताब लेखन में सहयोग 1 अंक प्रति किताब।

किताब में चैप्टर लेखन : 0.75 अंक प्रति चैप्टर।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस