रांची, जासं। रांची के ओरमांझी के जंगल में सुफिया परवीन नाम की लड़की की जघन्य हत्या करने के मामले में रांची पुलिस ने क्राइम सीन रीक्रिएट कराया। पुलिस मुख्‍य आरोपित शेख बिलाल को लेकर घटनास्‍थल पर पहुंची और सीन को रीक्रिएट कराया। युवती की हत्‍या के बाद उसका धड़ ओरमांझी के पलाश पतरा जंगल में मिला था। पुलिस सूत्रों की मानें तो इस वीभत्स वारदात को अंजाम देने की पूरी कहानी का सीन पुलिस रीक्रिएट कर रही है। इसके आधार पर पुलिस अपनी विस्तृत रिपोर्ट तैयार करेगी। अपराध को अंजाम देने में इस्तेमाल किए गए तरीके को समझने के लिए पुलिस हर छोटे-बड़े बिंदु को नए सिरे से परखना चाहती है।

दरअसल, इस केस की कड़ियों को जोड़ने में पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी है। लड़की के सिर को धड़ से अलग कर करीब 2 किलोमीटर दूर जमीन में दफनाया गया था। सिर कटी लाश को जंगल में फेंक दिया गया था। शव बरामद होने वाले इलाके से पुलिस को कोई मोबाइल लोकेशन नहीं मिल पा रहा था। लिहाजा एक तरफ पुलिस के सामने शव की शिनाख्त का संकट खड़ा हो गया था, वहीं दूसरी तरफ सिर खोजने की चुनौती थी।

इस बीच अलग-अलग इलाके से आने वाले कई लोगों ने शव को लेकर अपनी-अपनी दावेदारी की। आखिरकार चान्हो के एक परिवार की ओर से किए गए दावे में पुलिस को सच्चाई नजर आई। इससे मिली सूचना के आधार पर नए सिरे से पुलिस ने अपनी पड़ताल शुरू की। पीड़ित परिवार ने जिस युवक पर आरोप लगाया, वह अपनी पत्नी को छोड़कर फरार हो गया।

पुलिस की पूछताछ में आरोपित के परिवार वालों ने पूरी कहानी बयां कर दी। उनकी निशानदेही पर ही पुलिस को शेख बेलाल के खेत से युवती का सिर बरामद हो गया। इसके अलावा हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार से लेकर सिर को दफनाने के लिए जमीन खोदने में इस्तेमाल सामग्री और कपड़े सहित कई अन्‍य अहम सुराग हाथ लगे हैं। इसके आधार पर पुलिस ने अपने खुफिया तंत्र को काम पर लगाया। आखिरकार शेख बेलाल पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

यह भी पढ़ें: वेब सीरीज आश्रम देखकर शेख बेलाल ने की युवती की हत्या, पुलिस को मिली अहम जानकारी

Edited By: Sujeet Kumar Suman