रामगढ़, जागरण संवाददाता। एसडीपीओ के के रजक और उनकी पत्नी के बीच समझौता हो गया है। शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एसडीपीओ के के रजक व उनकी पत्नी वर्षा श्रीवास्तव प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय के समक्ष उपस्थित हुए। दोनों ने न्यायालय के समक्ष स्वीकार किया कि उनके बीच समझौता हो गया है। इस पर न्यायालय ने दोनों पक्ष को सुलहनामा दाखिल करने का निर्देश दिया। हालांकि एसडीपीओ की पत्नी वर्षा श्रीवास्तव ने न्यायालय से कहा कि एसडीपीओ के के रजक शपथ पत्र के माध्यम से यह लिखकर दें, कि भविष्य में वे इस तरह की गलती नहीं करेंगे। इसके बाद प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश अपने दोनों पक्ष को न्यायालय में सुलहनामा दाखिल करने का निर्देश दिया।

दोनों के बीच हुआ सुलह

साथ ही मामले की अगली सुनवाई के लिए तारीख एक फरवरी निर्धारित की है। उल्लेखनीय है कि एसडीपीओ की पत्नी वर्षा श्रीवास्तव ने अपने पति एसडीपीओ रजक पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। इस मामले में उन्होंने रामगढ़ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। वर्षा ने अपनी शिकायत में कहा था कि मारपीट में उनकी आंख व कान में चोट आई है। इस दौरान पुलिस के वरीय पदाधिकारियों की ओर से समझौते का भी प्रयास कराया गया। मामले में एसपी प्रभात कुमार ने सीआईडी जांच की अनुशंसा राज्य सरकार से की थी।

पहले भी दोनों के बीच हुआ था विवाद

इससे पहले भी करीब चार वर्ष पूर्व एसडीपीओ के प्रशिक्षण के दौरान भी रामगढ़ में दोनों के बीच काफी विवाद हुआ था। मामले में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने पहल करते हुए दोनों के बीच समझौता कराया था।

Edited By: Madhukar Kumar