रांची ,राब्यू।  पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने बुधवार को रांची के मोरहाबादी मैदान में पिछले 24 दिनों से अनशन कर रहे सहायक पुलिसकर्मियों से मुलाकात की और उनके साथ कुछ देर के लिए सांकेतिक रूप से अनशन पर भी बैठे। इस मौके पर रघुवर ने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले वर्ष सहायक पुलिसकर्मियों से जो वादा किया था, उसे वह पूरा नहीं कर रही है। सरकार को उनकी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करना चाहिए। उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र भी लिखा है।

मुख्यमंत्री को प्रेषित पत्र में रघुवर दास ने कहा कि हमारी सरकार ने नक्सल क्षेत्र के युवक एवं युवतियों को विकास की मुख्यधारा में शामिल करने के उद्देश्य से राज्य में सहायक पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की योजना प्रारंभ की थी, जिसमें नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के युवक एवं युवतियों को सहायक पुलिस के रूप में नियुक्त कर तीन वर्षों का पुलिस प्रशिक्षण दिया गया था। दुर्भाग्य की बात है कि ये सहायक पुलिसकर्मी छोटे-छोटे बच्चों के साथ पिछले 24 दिनों से अपने जीविकोपार्जन के लिए विषम परिस्थितियों में आंदोलनरत हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि सहायक पुलिसकर्मियों की उचित मांगों पर संवेदनशीलता के साथ सरकार विचार करे। तत्काल इनकी सेवा पूर्व की भांति ली जाए तथा इनके मानदेय में प्रतिवर्ष निश्चित अनुपात में वृद्धि की जाए। प्रति वर्ष पुलिस पदों की रिक्तियों के विरुद्ध होने वाले नियुक्तियों में सहायक पुलिसकर्मियों को प्राथमिकता दी जाए। जिन पांच सहायक पुलिसकर्मियों की मौत हुई है, उन्हें सरकार मुआवजा राहत राशि प्रदान करे।

Edited By: Kanchan Singh