Move to Jagran APP

हाथ-पैर बांध पतरातू डैम में जिंदा डुबोकर मारी गई मेडिकल छात्रा, हत्‍यारे ने कर रखी थी पूरी प्‍लानिंग

Puja Bharti Hazaribagh Medical College हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे के शरीर के बाहरी हिस्से या प्राइवेट पार्ट में किसी तरह के चोट आदि के निशान नहीं मिले हैं। दुष्कर्म की जांच के लिए नेल क्लिपिंग अंडर गारमेंट वेजाइनल स्वाब एसएसएफएल भेजा गया है।

By Alok ShahiEdited By: Thu, 14 Jan 2021 03:41 AM (IST)
Puja Bharti Hazaribagh Medical College हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे।

रामगढ़, जासं। Puja Bharti Hazaribagh Medical College, Puja Bharti Murder Case हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती पूर्वे की मौत पानी में डूबने से हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से इसकी पुष्टि हुई है। तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड की मौजूदगी में हुए पोस्टमार्टम में मृतका के पेट से पानी निकला है। इससे आशंका व्यक्त की जा रही है कि हाथ-पैर बांध कर छात्रा को जिंदा ही डैम में फेंक दिया गया होगा। चिकित्सकों का मानना है कि मृत व्यक्ति को पानी में डुबो देने से पेट के अंदर पानी नहीं जाता है। बताते चलें कि पूजा का हाथ-पैर बंधा शव मंगलवार को पतरातू डैम से बरामद हुआ था।

इधर पोस्टमार्टम के दौरान छात्रा के शरीर के बाहरी हिस्से या प्राइवेट पार्ट में किसी तरह के चोट आदि के निशान नहीं मिले हैं। दुष्कर्म के बिंदु पर जांच के लिए नेल क्लिपिंग, अंडर गारमेंट,  वेजाइनल स्वाब के अलावा बैग के अंदर से मिली रस्सी व अन्य सामान एसएसएफएल, रांची (राज्य विधिक विज्ञान प्रयोगशाला) भेजा गया है। एसएसएफएल से जांच रिपोर्ट आने के बाद ही दुष्कर्म के बिंदु पर आगे की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

तीन जिलों की पुलिस और 17 टीमें कर रहीं मेडिकल छात्रा हत्याकांड की जांच

शेख बिहारी मेडिकल कालेज, हजारीबाग की छात्रा पूजा भारती पूर्वे हत्याकांड मामले में तीन जिले की पुलिस 17 टीमें बनाकर जांच कर रही हैं। हजारीबाग के अलावा रामगढ़ और रांची पुलिस पूरे मामले की गुत्थी सुलझाने में लगी है। अब तक मिली जानकारी के अनुसार पूजा हजारीबाग से अजीत नामक एसी बस से चलकर सीधे रांची पहुंची थी। अलबत्ता वह कहां उतरी थी, बस के चालक तथा उप चालक निश्चित स्थान नहीं बता पा रहे हैैं।

हजारीबाग से चलकर सीधे रांची पहुंची थी छात्रा पूजा

पूरे मामले में रांची पुलिस रांची रिंग रोड अपोलो अस्पताल के समीप, बूटी मोड़ और कांके रोड में लगे कैमरे को खंगाल रही है। डीआइजी, हजारीबाग एवी होमकर खुद इस पूरे प्रकरण की निगरानी कर रहे हैं और तीन जिलों की टीमों के साथ मिलकर गुत्थी को सुलझाने में लगे हैं। इस क्रम में डीआइजी होमकर बुधवार को मेडिकल कालेज भी पहुंचे और  प्राचार्य एवं अन्य से पूछताछ की। बताते चलें कि मंगलवार को छात्रा का शव पतरातू डैम से बरामद किया गया था। उसके हाथ पैर बंधे थे। हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा गोड्डा की रहने वाली थी। 

सुनियोजित तरीके से हत्याकांड को दिया गया अंजाम, गायब सिम का कॉल डिटेल देगा सुराग

पूरे मामले में पुलिस यह मानकर चल रही है कि घटना सुनियोजित है। पुलिस उस नंबर की तलाश कर रही है जो छात्रा के दूसरे मोबाइल में था। सारा प्रमाण उसी सिम में बंद है। माना जा रहा है कि कॉल डिटेल सच से पर्दा उठाएगा। पुलिस अब तक अपनी सारी शक्ति रांची और पतरातू डैम में लगा रही है। पुलिस उस स्थान का भी कॉल डंप जांच रही है, जहां छात्रा का शव मिला है। 

बालिग है छात्रा, उनके अधिकारों का हनन नहीं, परंतु छह बजे के बाद प्रवेश नहीं

शेख बिहारी मेडिकल कालेज हजारीबाग के प्राचार्य डाक्टर एस के सिंह ने कहा कि कालेज में अनुशासन पूरी तरह से लागू है। कोई भी छात्र - छात्रा परिसर के अंदर कदाचार करता है तो उन पर अनुशासनात्मक कार्रवाई  की जाती है  सभी छात्र-छात्राएं बालिग हैं, इसलिए उनकी व्यक्तिगत स्वतंत्रता को नहीं रोका जा सकता। छात्रा पूजा भारती पूर्वे मेडिकल कालेज परिसर से सुबह स्वस्थ निकली हैं। इसका प्रमाण गेट में लगे सीसीटीवी फुटेज बताता है। उन्होंने कहा कि शाम 6 बजे तक कोई भी छात्र-छात्राएं वापस नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ कालेज प्रबंधन अनुशासनात्मक कार्रवाई करता है। छह बजे के बाद मेन गेट बंद कर दिया जाता है।

मेडिकल छात्रा पूजा भारती हत्याकांड : अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

हजारीबाग मेडिकल कालेज छात्रा हत्याकांड मामले में पतरातू थाना प्रभारी भरत पासवान के बयान पर अज्ञात लोगों के विरुद्ध हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इधर, बुधवार को भी पुलिस की टीम पतरातू एसडीपीओ प्रकाश चंद्र महतो के नेतृत्व में शव मिलने वाले स्थल पर पहुंची और नए सिरे से निरीक्षण किया। वहां मौजूद नाविकों को पानी के अंदर भेज कर सुराग तलाशने की कोशिश भी की गई। पुलिस पतरातू लेक रिसार्ट के अलावा डैम के आसपास के होटलों के सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी है। इधर, थाना प्रभारी ने डैम में नाव का संचालन करने वाले नाविकों तथा वहां छोटे-मोटे व्यवसाय से जुड़े व्यवसायियों से टोलियां बनाकर डैम के पिकनिक स्थलों की पहरेदारी करने को कहा है।