रांची, राज्य ब्यूरो। PM MODI in Jharkhand प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने झारखंड दौरे के क्रम में न केवल पहली बार राजभवन में ठहरे, बल्कि यहां रात्रि विश्राम भी किया। प्रधानमंत्री एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक रोड शो करने के बाद लगभग 7:40 बजे राजभवन पहुंचे। प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर राजभवन की सुरक्षा सख्त की गई है। नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद कई बार झारखंड आ चुके हैं। लेकिन वे कभी राजभवन नहीं गए, क्योंकि उनका रांची में ठहरने का कार्यक्रम ही नहीं था। प्रधानमंत्री बनने के बाद वे पहली बार 21 अगस्त 2014 तथा पिछले वर्ष 23 सितंबर को रांची भी आए। इस दौरान भी प्रधानमंत्री कार्यक्रम के बाद वापस चले गए थे। वे पहली बार राजभवन में ठहरे हैं।

वाजपेयी राजभवन में कर चुके हैं विश्राम
झारखंड गठन के बाद राजभवन जानवाले एकमात्र प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी थे। अप्रैल 2003 में प्रधानमंत्री के रूप में उन्होंने यहां भोजन के बाद विश्राम किया था। वे रात में यहां नहीं ठहरे थे। वाजपेयी उस समय वनवासी कल्याण केंद्र के कार्यक्रम में शामिल होने रांची आए थे।

खाने में झारखंडी व्यंजन, राज्‍यपाल ने की अगवानी
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजभवन आगमन पर उनकी अगवानी की। इस क्रम में उन्होंने प्रधानमंत्री और उनके साथ आनेवाले पदाधिकारियों, डॉक्टरों व सुरक्षा पदाधिकारियों के ठहरने से लेकर रात के भोजन व सुबह के नाश्ते आदि की व्यवस्था को भी परखा। प्रधानमंत्री के लिए शाकाहारी खाने की व्यवस्था की गई है। उनके भोजन में झारखंडी मेन्यू को अधिक स्थान दिया गया है।

भाजपा नेताओं संग करेंगे बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजभवन में भाजपा की चुनावी रणनीति पर बैठक भी करेंगे। जानकारी के मुताबिक वे प्रदेश भाजपा कोर कमेटी और पदाधिकारियों के साथ चुनावी रणनीति पर चर्चा करेंगे। यह चर्चा मंगलवार रात और बुधवार की सुबह होगी। भाजपा के प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश ने बताया कि प्रधानमंत्री का परंपरागत तरीके से स्वागत किया गया।

एयरपोर्ट से राजभवन तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, आठ जोन में बंटी रांची
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंगलवार की शाम रांची आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी रही। प्रधानमंत्री रांची एयरपोर्ट पर संध्या 6:40 पर पहुंचे। इसके बाद रांची एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक उनका रोड शो हुआ। करीब 7:40 बजे वह राजभवन चले गए। उनके आगमन को ले रांची शहर को सुरक्षा की दृष्टि से आठ जोन में बांटा गया था। वहीं, चप्पे-चप्पे से प्रधानमंत्री के काफिले की निगरानी की गई।

एयरपोर्ट से राजभवन तक शहर में 1500 अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गई थी। रोड शो को देखते हुए सादे लिबास में भी पुलिस पदाधिकारी भी तैनात रहे। इस दौरान रांची में प्रतिनियुक्त अधिकारी मंगलवार की दोपहर एक बजे से ही अपनी ड्यूटी पर मुस्‍तैद रहे । रोड शो के दौरान एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक सड़क की दोनों तरफ 100 पुलिस पदाधिकारी व दंडाधिकारी तैनात थे।

रोड शो मार्ग के दोनों तरफ की ऊंची इमारतों पर भी पुलिस के जवान पीएम की निगहबानी करते देखे गए। इसके लिए 90 ऊंची इमारतें चिह्नित की गई थीं, यहां 360 से अधिक जवान तैनात रहे। वैकल्पिक रूट में भी 39 ऊंची इमारतों को चिह्नित कर 80 जवानों को तैनात किया गया था। राजभवन के समीप विशेष शाखा की एसपी संध्या रानी मेहता 50 पुलिस पदाधिकारियों के साथ मुस्तैदी से डटीं रहीं।

20 वाहनों का था पीएम का कारकेड
प्रधानमंत्री का कारकेड 20 वाहनों का होगा। पूरे कारकेड की सुरक्षा का जिम्मा सीआइडी के एसपी मनोज रतन चोथे को दी गई थी। बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर एससीआरबी की एसपी प्रियंका मीणा 200 पुलिसकर्मियों के साथ मौजूद रहीं। एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक यातायात व्यवस्था से लेकर विधि-व्यवस्था तक की जिम्मेदारी एसपी यातायात अजीत पीटर डुंगडुंग ने संभाला। भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा के पास 50 प्रशिक्षु दारोगा लगाए गए थे। यहां अन्य पुलिस पदाधिकारियों के अलावा वज्र वाहन, वाटर कैनन, अग्निशमन दस्ता, टीयर गैस वाहन भी तैनात दिखा।

Posted By: Alok Shahi