रांची, जासं। Pooja Singhal News भ्रष्‍टाचार के संगीन आरोपों में गिरफ्तार झारखंड की आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल बहुत दिनों बाद आज थोड़ी रिलैक्‍स दिखीं। उनके चेहरे पर सुकून के भाव दिखे। फिलहाल वो ईडी की कस्‍टडी में हैं। उनसे पिछले 10 दिनों से लगातार पूछताछ की जा रही है। ईडी ने पूजा सिंघल की रिमांड बढ़ाने के लिए शुक्रवार को उन्‍हें रांची की विशेष अदालत में पेश किया। जहां अदालत में अपनी बात रखने के दौरान पूजा सिंघल बोलते-बोलते हांफने लगीं। वहीं जब उनके वकील कोर्ट में उनके पक्ष में मजबूत दलीलें दे रहे थे, तब उनके चेहरे पर शांति-सुकून के भाव देखने को मिले। दैनिक जागरण संवाददाता ने बताया कि जब उनके पक्ष में ईडी कोर्ट में अधिवक्ता विश्वजीत मुखर्जी अदालत के सामने दलीलें दे रहे थे। तब पूजा सिंघल के चेहरे की घबराहट समाप्त होती दिखी। कई बार उन्हें मुस्कुराते हुए भी देखा गया। हालांकि, कभी-कभी वे गंभीर भी हो जाती थीं।

यह भी पढ़ें : IAS Pooja Singhal: ईडी ने पूछताछ में उनसे कहा- अपना मुंह खोलिए, नहीं तो हमारे पास दूसरे भी तरीके हैं...

अपनी बात रखने के दौरान हांफ रही थीं पूजा सिंघल, ईडी की जमकर तारीफ

झारखंड की पूर्व खनन सचिव आइएएस पूजा सिंघल को करीब एक बजे व्यवहार न्यायालय स्थित ईडी कोर्ट में लाया गया। करीब दो घंटे तक पूजा सिंघल और उनके सीए सुमन कुमार अदालत में रही। कोर्ट की कार्रवाई चलती रही। इस दौरान पूजा सिंघल अपने अधिवक्ताओं से बातचीत करते रहे। कोर्ट में पेशी के दौरान ईडी के विशेष जज पीके शर्मा ने निलंबित आइएएस पूजा सिंघल से उनका हालचाल जाना। अदालत ने उनसे पूछा कि पूछताछ के दौरान किसी प्रकार की परेशानी तो नहीं हो रही है। इसपर पूजा सिंघल ने ईडी की जमकर तारीफ की। कहा कि अच्छे वातावरण में ईडी पूछताछ कर रही है। जब तबियत खराब होने की शिकायत करती हूं तो इलाज की समुचित व्यवस्था की जाती है। हालांकि, बोलते-बोलते वो हांफने लगी। असहज महसूस कर रही थीं। लेकिन अधिवक्ता ने उनके पक्ष में दलीलें दी तो चेहरे पर मुस्कान लौट आई।

पल्स अस्पताल से जुड़े सवाल का पूजा सिंघल नहीं दे रही जवाब, पांच दिनों का रिमांड बढ़ा

निलंबित आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल अपने पति अभिषेक झा के पल्स अस्पताल से जुड़े सवाल का ठीक से जवाब नहीं दे रही है। ईडी की टीम पूछती कुछ है और पूजा सिंघल जवाब कुछ और ही देती है। पूछताछ में सहयोग नहीं करती है। बराबर तबीयत खराब होने की शिकायत करती है। इस कारण पिछले नौ दिनों के रिमांड अवधि में भी ईडी को कई सवालों के जवाब नहीं मिले। इसलिए उनसे पूछताछ के लिए और समय चाहिए।

सीए सुमन कुमार को भेजा जेल

ईडी की विशेष अदालत में पूजा सिंघल की रिमांड बढ़ाने पर बहस के दौरान विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने कम से कम छह दिनों के रिमांड की मांग की। हालांकि, अदालत ने पांच दिनों के रिमांड पर पूजा सिंघल को भेजने का निर्देश दिया। पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार को अदालत ने 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा होटवार जेल भेज दिया। जेल भेजने से पूर्व सुमन कुमार की कोविड 19 जांच कराई गई।

पूजा सिंघल से पूछताछ के दौरान चिकित्सक रहेंगे मौजूद

इधर, पूजा सिंघल की ओर से वरीय अधिवक्ता विश्वजीत मुखर्जी ने अदालत से कहा कि भले वे किसी मामले में आरोपित हैं लेकिन यह ध्यान रखा जाना चाहिए की वे महिला हैं। उनकी तबियत ठीक नहीं है। ईडी मामले के बेवजह तूल दे रहा है। अदालत से शिकायत किया कि जांच के नाम पर मीडिया ट्रायल चल रहा है। ईडी के पास पूछने और जानने के लिए कुछ भी नहीं है ऐसे में रिमांड अवधि बढ़ाने की कोई आवश्यकता नहीं है। विश्वजीत मुखर्जी ने बताया कि ईडी के विशेष जज पीके शर्मा ने ईडी को निर्देश दिया है कि जब भी पूजा सिंघल से पूछताछ होगी उस दौरान चिकित्सक मौजूद रहेंगे। उनके स्वास्थ्य की नियमित जांच का भी निर्देश दिया।

एक खनन पदाधिकारी से पूछताछ बाकी, आमने-सामने होगी पूछताछ

रिमांड पर बहस के दौरान ईडी की ओर से अदालत को बताया गया कि एक खनन अधिकारी से अभी पूछताछ नहीं हो पाई है। ईडी पूजा सिंघल और खनन अधिकारी को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी। वहीं, मोबाइल, लैपटाप से मिले साक्ष्य को लेकर भी पूछताछ पूरा नहीं हो पाया है। जो दस्तावेज सीज किए गए हैं उससे भी एक एक कर पूछताछ करना है।

11 मई को पूजा सिंघल हुई थीं गिरफ्तार, 9 दिनों से लगातार हो रही पूछताछ

भ्रष्टाचार के संगीन आरोपों और सीए सुमन कुमार के घर मिले करीब 20 करोड़ रुपये काले धन को लेकर ईडी की टीम ने 11 मई को आइएएस पूजा सिंघल को गिरफ्तार किया था। उसके बाद अदालत ने दो बार रिमांड पर भेजा। पहली बार पांच दिनों के लिए फिर दूसरी बार 16 मई को चार दिनों के रिमांड पर भेजा। वहीं, 20 मई को फिर से पांच दिनों के रिमांड पर भेजने का निर्देश दिया है। इस तरह ईडी पूजा सिंघल से कुल 14 दिनों तक पूछताछ करेगी।

Edited By: Alok Shahi