रामगढ़, [देवांशु शेखर मिश्र]। सावधान! अब लोगों को एक बार फिर पाकिस्तान से अनचाहे फोन आने लगे हैं। इसलिए अब हमें और ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। सरकार द्वारा इसे लेकर विशेष सावधानी बरतने की अपील भी की जा रही है। इसको लेकर इंटेलिजेंस विंग भी काफी सजग है और लोगों को सतर्क भी कर रहा है। पाकिस्तान के साइबर फ्रॉड एक बार फिर सक्रिय हुए हैं। पहले लॉटरी का झांसा देते थे, अब आपकी गोपनीय जानकारी चुराने की कोशिश में जुटे हैं।

प्लस-92 कोड लगे नंबर से कॉल आए तो उठाने की जरूरत नहीं है। नहीं तो आपके खाते से रुपये उड़ा लिए जा सकते हैं। लद्दाख में एलएसी पर चीन के साथ तनातनी के बीच लोग इसे साइबर हमले से भी जोड़कर देख रहे हैं। सरकार की सख्ती के बावजूद ऐसे लोग वाट्सएप से कॉल कर रामगढ़ में लोगों के साथ अश्लील बातें करने लगे हैं। ऐसे कॉल प्राइवेसी के लिए खतरा हैं। इससे आर्थिक नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। ऐसे कॉल की शिकायत रामगढ़ पुलिस से की गई है।

भारत सरकार द्वारा इसी चिंता को लेकर सोमवार को चीन के 59 एप ब्लॉक किए गए हैं। पाकिस्तान के साइबर फ्रॉड लोगों को 923006383362 नंबर से फोन कर अनर्गल प्रलाप कर बातों में उलझाते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि लोगों से इस तरह की बातें कर वे फोन को खंगालने का प्रयास कर सकते हैं। मोबाइल फोन से लोगों की निजी जानकारी चुराने का प्रयास कर सकते हैं।

साथ ही, लोगों के साथ फाइनेंसियल फ्रॉड करने का भी प्रयास कर सकते हैं। वाट्सएप कॉल के माध्यम से लोगों की तस्वीरें लेकर उनकी तस्वीरों का गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। इस संबंध में जानकार कहते हैं कि अगर उन्हें 92 या  90 नंबर से वाट्सएप कॉल आए, तो ऐसे फोन को इग्नोर करें। अगर फोन रिसिव कर लें तो कैमरे पर हाथ रखकर ही बात करें, और गैर जरूरी कॉल होने पर उसे तत्काल डिस्कनेक्ट कर दें।

केस स्टडी 01

इंटरनेट और ब्रॉडबैंड के व्यवसाय से जुड़े व्यवसायी सुजीत मिश्रा को 28 जून की रात करीब साढ़े आठ बजे उनके मोबाइल पर वाट्सएप कॉल  92 नंबर से आया। पहले तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। कई बार फोन आने के बाद उन्होंने फोन उठाया, लेकिन कैमरे पर उंगली रख दिया। दूसरी ओर से बार-बार तस्वीर दिखाने पर जोर देने लगा। कैमरे से उंगली नहीं हटाने पर गाली-गलौज करने लगा।

केस स्टडी 02

एक अन्य व्यवसायी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि ऐसा वाट्सएप कॉल आया, जिसमें फोन नंबर का लोगो केबीसी था। फोन उठाते ही उधर से अनर्गल प्रलाप करने लगा। इसके बाद व्यवसायी को शक हुआ, तो उन्होंने फोन डिस्कनेक्ट कर दिया। तत्काल इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी।

'ऐसी शिकायत मिली है। ऐसे नंबर पर सीधे सरकार की निगरानी रहती है। कुछ तकनीकी खामियों का फायदा उठाकर ऐसे लोग वाट्सएप कॉल का सहारा ले रहे हैं। लोग ऐसे कॉल के प्रति सतर्क रहें।  92 या  90 आदि नंबरों से फोन आने पर इसे उठाने से परहेज करें। अगर गलती से फोन उठा भी लें, तो कैमरे पर हाथ रख लें। ताकि वे आपकी तस्वीर आदि स्क्रीन शॉट से नहीं ले सकें।  92 पाकिस्तान का कोड है, तो 90 नेपाल का।' -अनुज उरांव, एसडीपीओ, रामगढ़।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस