रांची, डिजिटल डेस्क। चित्रकार पद्मश्री कृष्ण कन्हाई ने सोमवार को झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी कल्पना सोरेन से मुलाकात कर गुरुजी शिबू सोरेन की एक शानदार पेंटिंग भेंट की है। इस पेंटिंग में दिशोम गुरु और झारखंड आंदोलन के नायक रहे शिबू सोरेन केंद्र बिन्दु हैं। उनके साथ हेमंत सोरेन भी नजर आ रहे हैं। यह पेंटिंग दो पीढ़ियों को नेतृत्व करते दर्शाती है। इस विशाल पेंटिंग को जब कृष्ण कन्हाई ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भेंट किया तो वह उत्सुकता से निहारते नजर आए। मुख्यमंत्री ने चित्रकार कृष्ण कन्हाई को इस शानदार पेंटिंग के लिए धन्यवाद दिया। इतना ही नहीं उन्होंने चित्रकार को अंगवस्त्र और प्रतीक चिह्र भेंट कर सम्मानित भी किया।

कौन हैं चित्रकार कृष्ण कन्हाई

मालूम हो कि चित्रकार कृष्ण कन्हाई वृंदावन उत्तरप्रदेश से यहां आए थे। मुख्यमंत्री से उन्होंने शिष्टाचार भेंट कर अपनी पेंटिंग से रूबरू कराया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के अलावा उनकी पत्नी कल्पना सोरेन भी मौजूद थीं। कृष्ण कन्हाई भारत के चर्चित चित्रकार हैं। उनके पिता श्रीकन्हाई भी देश के प्रख्यात चित्रकार रह चुके हैं। भारत सरकार ने वर्ष 2000 में पिता को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया था। इसके बाद वर्ष 2004 में भारत सरकार ने कृष्ण कन्हाई को भी पद्मश्री सम्मान दिया था। संसद के सेंट्रल हाल में भी इनकी पेंटिंग लगी है।

देश के कई नेताओं की बना चुके हैं पेंटिंग

कृष्ण कन्हाई भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, सुश्री मायावती, सरदार बल्लभ भाई पटेल, अखिलेश यादव, योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह जैसे तमाम दिग्गज नेताओं की पेंटिंग बना चुके हैं। संसद के सेंट्रल हाल में इनकी बनाई अटल बिहारी वाजपेयी की पेंटिंग अब भी मौजूद है। उत्तरप्रदेश विधानसभा में इनकी 58 पेंटिंग लगी हुई है। इसमें 22 पेंटिंग उत्तरप्रदेश के विभिन्न मुख्यमंत्रियों की है।

कई राज्यों में मिल चुका सम्मान व पुरस्कार

चित्रकार कृष्ण कन्हाई को कई पुरस्कार और सम्मान अबतक मिल चुका है। मध्य प्रदेश सरकार ने उन्हें वर्ष 2009 में कालिदास सम्मान दिया था। इसी तरह वर्ष 2015 में उत्तरप्रदेश सरकार ने उन्हें यश भारती पुरस्कार से सम्मानित किया था। वर्ष 2020 में उनका नाम लंदन के वर्ल्ड बुक आफ रिकार्ड में दर्ज हुआ था। इसी तरह वर्ष 2015 में उनके कला क्षेत्र में योगदान के लिए अंतरराष्ट्रीय फोर्ब्स मैगजीन में लेख भी प्रकाशित हुआ था।

जन्म 21 अगस्त 1961 को हुआ था

चित्रकार कृष्ण कन्हाई का जन्म 21 अगस्त 1961 को उत्तरप्रदेश के मथुरा जिले के वृंदावन में हुआ। वह कृष्णा चित्रकार के नाम से भी मशहूर रहे हैं। उनके तीन पुत्र हैं। पिता का नाम कन्हाई है। माता का नाम गीता है। पिता कन्हाई को भी पद्मश्री सम्मान मिल चुका है।

Edited By: M Ekhlaque