रांची : खरीफ फसल के लिए किसानों को अनुदानित दर पर बीज का वितरण गुरुवार को शुरू कर दिया गया। कृषि मंत्री बादल ने नेपाल हाउस सचिवालय में सांकेतिक रूप से दस किसानों को बीज का वितरण कर योजना का शुभारंभ किया। इस मौके पर कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी भी मौजूद थे।

किसानों को अनुदानित दर पर बीज उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने 15 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। फिलहाल धान के अलावा अरहर, मूंग, उरद, मक्का व मूंगफली के बीज किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान पर मुहैया कराए जाएंगे। बीज की आपूर्ति राष्ट्रीय बीज निगम के स्तर से की गई है। इस मौके पर कृषि मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों को बीच की कमी नहीं होने देगी। आवश्यकता पड़ने पर इसके लिए और भी राशि का प्रावधान किया जाएगा।

----------

50 फीसद ही दिया गया अनुदान :

कृषि मंत्री बादल ने कोविड-19 महामारी को देखते हुए इस वर्ष किसानों को 90 फीसद अनुदान पर बीज मुहैया कराने की घोषणा की थी, लेकिन बीज का वितरण 50 प्रतिशत अनुदान पर ही किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि केंद्र के भरोसे कृषि मंत्री ने यह घोषणा की थी, लेकिन इस मद में केंद्रीय मदद नहीं मिली।

----------

इस बीज पर इतना मिलेगा अनुदान (प्रति किलोग्राम/रुपये में)

बीज - स्वीकृत दर - अनुदान राशि - कृषकों का अंश

धान प्रमाणित - 36.99 - 18.495 - 18.495

धान संकर - 31.00 - 15.50 - 15.50

धान संकर - 19.00 - 9.50 - 9.50

मक्का - 212.00 - 106.00 - 106.00

अरहर - 111.00 - 55.50 - 55.50

उरद - 133.00 - 66.50 - 66.50

मूंग - 145.00 - 72.50 - 72.50

मूंगफली - 118.00 - 59.00 - 59.00

----------

पहले चरण में 26677 क्विंटल धान का बीज किया जाएगा वितरित :

पहले चरण में 26,677.5 क्विंटल धान का बीज किसानों के बीच अनुदानित दर पर बांटा जाएगा। वहीं, मक्का का 5310 क्विंटल, अरहर का 1700 क्विंटल, उरद का 1575 क्विंटल, मूंग का 980 क्विंटल व मूंगफली का 810 क्विंटल बीज वितरण किसानों के बीच किया जाएगा।

------------ मदद को आगे आए पूर्व विधायक, मुख्यमंत्री को सौंपा 5.51 लाख रुपये का चेक

रांची : कोरोना संकट की घड़ी में तमाम संस्थाएं आगे बढ़ कर राज्य सरकार की मदद कर रहीं हैं। इस कड़ी में गुरुवार को पूर्व विधायकों ने अपने पेंशन से राशि एकत्र कर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को 5.51 लाख रुपये का चेक सौंपा है। मुख्यमंत्री ने इस मदद के लिए पूर्व विधायकों का आभार जताया और कहा कि कोरोना संकट की इस घड़ी में उनके द्वारा मिली यह सहायता राशि काफी उपयोगी साबित होगी। सीएम ने कहा कि पूरे राज्य से विभिन्न संगठनों के साथ-साथ आम लोग भी मदद के लिए अपने हाथ बढ़ा रहे हैं। इससे निश्चित तौर पर हम कोरोना पर जीत हासिल करने में कामयाब होंगे। पूर्व विधायकों ने कहा कि उन्होंने अपनी पेंशन की राशि से अंशदान देकर मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए चेक सौंपा है। आने वाले दिनों में सभी पूर्व विधायकों से राशि संग्रहित कर कोरोना से बचाव और रोकथाम के लिए और सहायता राशि मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए सौंपी जाएगी। इसके लिए सभी पूर्व विधायकों से संपर्क किया जा रहा है। मुख्यमंत्री को चेक सौंपने वालों में झारखंड राज्य पूर्व विधायक परिषद के अध्यक्ष देवेंद्र नाथ चंपिया, महासचिव हेमंत प्रताप देहाती, उपाध्यक्ष रामजी लाल सारडा और सचिव केशव महतो कमलेश एवं सनातन माझी मौजूद थे।

---------

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस