रांची, जासं। आमलोगों को अपनी वैधानिक सुविधा या किसी प्रकार की शिकायत दर्ज कराने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकार, डालसा कार्यालय आने की जरूरत नहीं है। अब घर बैठे पोर्टल पर अपना आवेदन अपलोड कर सकते हैं। झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, झालसा ने आमलोगों की सहूलियत को देखते हुए एक्सेस टू जस्टिस फॉर ऑल पोर्टल लांच की है। कोई भी अपने स्मार्ट फोन में इस पोर्टल को डाउनलोड कर सकता है। आवेदन अपलोड करना काफी सरल है।

पोर्टल खोलने पर एक ऑप्शन दिखेगा जिसपर जाकर आवेदन को अपलोड किया जा सकता है। खासबात ये है कि आवेदक खुद अपना आवेदन ट्रैक कर सकता है। आवेदक यह देख सकता है कि आवेदन कहां पहुंचा है। इससे जहां सुदूरवर्ती इलाके के लोग घर बैठे अपनी शिकायत या वैधानिक सुविधा हेतु डालसा को आवेदन दे सकते हैं वहीं, काम में भी तेजी आयेगी। आवेदक की यह शिकायत दूर हो जाएगी कि उसके आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

आवेदन दबा के बैठे तो नपेंगे अधिकारी

पोर्टल पर आवेदन अपलोड होते ही सबसे पहले यह झालसा के मेंबर सेक्रेटरी के पास पहुंचेगा। मेंबर सेक्रेटरी आवेदन पढ़कर क्षेत्रानुसारडालसा सचिव को प्रेषित करेंगे। फिर डालसा सेक्रेटरी आवेदन को कार्रवाई हेतु पैनल लॉयर के पास भेजेंगे। इस तरह एक आवेदन देने के महज कुछ घंटे में ही लॉयर इसपर काम शुरु कर देंगे। लॉयर की यह जिम्मेदारी होगी कि आवेदन पढ़ने के उपरांत यथाशीघ्र आवेदक से संपर्क कर वैधानिक सलाह दें।

अगर थाने में प्राथमिकी दर्ज नहीं होती तो यहां कर सकते हैं शिकायत

पोर्टल के माध्यम से वैधानिक सुविधा तो प्राप्त होगी ही सरकार के विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए अगर बाबू दौड़ा रहे हैं तो यहां आवेदन दे सकते हैं। इसके अलावा वैवाहिक मामला, दहेज प्रताड़ना, मोटर दुर्घटना क्लेम, बीमा, बिजली, बैंक आदि से जुड़े वाद के निराकरण हेतु अावेदन दे सकते हैं। यही नहीं अगर किसी आपराधिक मामले में पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है तो पीड़ित अपना आवेदन डालसा के पोर्टल पर अपलोड कर सकते हैं। आवेदन पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार आवश्यक कार्रवाई करेगा।

ग्रामीण इलाके से कम आते हैं आवेदन

यह पहल ग्रामीण इलाके के लोगों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है। अक्सर देखा गया है कि राजधानी से गांव की ज्यादा दूरी और वाहन खर्च वहन करने में अक्षम लोग परेशानी होने के बावजूद अपनी शिकायत लेकर डालसा कार्यालय तक नहीं पहुंच पाते हैं। पोर्टल के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अब कहीं से भी बैठकर आवेदन दे सकता है।

क्या कहते हैं डालसा सचिव

आमलोगों की सुविधा के लिए पोर्टल लांच की गई है। इससे दूर दराज के लोगों को अपनी परेशानी साझा करने के लिए डालसा कार्यालय का चक्कर लगाने की आवश्यकता समाप्त हो गई है। डालसा का लक्ष्य अंतिम व्यक्ति तक वैधानिक सुविधा पहुंचाना है। इसमें यह पहल मील का पत्थर साबित होगा। - अभिषेक कुमार, सचिव डालसा

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप