रांची, राज्य ब्यूरो। हुनर से रोजगार देने के सरकार के दावों की पोल सदन में उसके जवाब से ही खुल गई। विधायक प्रदीप यादव के सवाल के जवाब में सामने आया कि श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा राज्य में संचालित किए जा रहे 59 आइटीआइ में 55 में प्राचार्य तक नहीं हैं। स्थिति यह रही कि विभागीय मंत्री सत्यानंद भोक्ता को विधायक के पूरक सवालों के जवाब तक नहीं सूझे। प्रदीप यादव ने पूछा कि राज्य के 59 आइटीआइ में 55 में प्राचार्य के पद 19 वर्षों से रिक्त हैं।

भवन मरम्मत के अभाव में जर्जर हो रहे हैं। प्राचार्य की बहाली और भवन की मरम्मत का कार्य कब तक होगा। जवाब में मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने बताया कि भवन की मरम्मत का कार्य समय-समय पर होता है। पूरा ब्योरा मैं आपको उपलब्ध करा दूंगा। प्रदीप यादव ने प्राचार्य की नियुक्ति के लिए नियुक्ति नियमावली से संबंधित सवाल किया तो मंत्री को सटीक जवाब नहीं सूझा।

एक बार कहा कि नियमावली बनाकर कार्मिक को भेज दी है, फिर कहा नियमावली गठन की प्रक्रिया में है। सीएम से बात करेंगे। प्रदीप यादव ने इस दोहरे जवाब पर सवाल उठाया तो स्पीकर रवींद्र नाथ महतो को भी यह कहने पर मजबूर होना पड़ा कि कृपया चीजों को समेटते हुए जवाब दें। मंत्री ने कहा कि नियुक्ति कार्मिक विभाग को करनी है, सरकार द्वारा नियमावली बनाई जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस