रांची, डिजिटल डेस्क। राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की साझा प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को नामांकन करेंगी। गुरुवार को उनके नामांकन पत्र पर बतौर प्रस्तावक झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्र सरकार में जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा और ओडिशा से बीजू जनता दल के कैबिनेट मंत्री जगन्नाथ सारका और टुकुनी साहू ने हस्ताक्षर किया। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने नई दिल्ली में संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी के आवास पर द्रौपदी मूर्मू के नामांकन पत्र पर प्रस्तावक के रूप में हस्ताक्षर किया। वहीं, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के निर्देश पर उनके कैबिनेट के दोनों मंत्री हस्ताक्षर करने के लिए दिल्ली पहुंचे।

इस तरह नवीन पटनायक ने दिया एनडीए का साथ

जानकारी के अनुसार, गुरुवार सुबह भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ओडिशा के मुख्यमंत्री द्रौपदी मुर्मू को फोन किया था। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने अपने दो मंत्रियों को बतौर प्रस्तावक हस्ताक्षर करने के लिए दिल्ली भेजा। इस मौके पर भाजपा के राज्यसभा सदस्य अरुण सिंह और संबित पात्रा भी मौजूद थे। बताया गया कि कल शुक्रवार को जब द्रौपदी मुर्मू नामांकन करेंगी तो बीजू जनता दल के दोनों मंत्री भी मौजूद रहेंगे। मालूम हो कि द्रौपदी मुर्मू के नाम की घोषणा के साथ ही मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने समर्थन देने की घोषणा कर दी थी। चूंकि द्रौपदी मुर्मू ओडिशा की बेटी हैं, इसलिए उन्होंने यह पहल की।

झामुमो 25 जून को करेगा समर्थन की घोषणा

उधर, झारखंड में झामुमो अब तक तय नहीं कर पाया है कि वह किसके साथ जाएगा। द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देगा या विपक्षी दलों के साझा प्रत्याशी यशवंत सिंह को। जानकारी के अनुसार, झामुमो के अध्यक्ष शिबू सोरेन और कार्यकारी अध्यक्ष मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शुक्रवार को विपक्षी दलों के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा मुलाकात करेंगे। यशवंत सिन्हा ने झारखंड के कांग्रेस नेताओं से भी संपर्क साधा है। बताया जाता है कि उनकी पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय से बात हुई है। इस चुनाव में झामुमो का क्या स्टैंड होगा इसके लिए पार्टी ने 25 जून को शिबू सोरेन के आवास पर अपने नेताओं की बैठक बुलाई है। इस बैठक में किसे समर्थन देना है, निर्णय होगा।

एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू का पढ़िए एक टवीट

Edited By: M Ekhlaque