Move to Jagran APP

NCRB Data 2021: देश में सर्वाधिक सांप्रदायिक दंगा झारखंड में, एनसीआरबी के ताजा आंकड़े से खुलासा

NCRB Latest Record राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने वर्ष 2021 के अपराध का आंकड़ा जारी कर दिया है। जारी आंकड़े के अनुसार देश में कुल 378 सांप्रदायिक दंगे हुए जिसमें सर्वाधिक 100 दंगे सिर्फ झारखंड में हुए हैं।

By Sanjay KumarEdited By: Published: Wed, 31 Aug 2022 07:20 AM (IST)Updated: Wed, 31 Aug 2022 07:21 AM (IST)
NCRB Latest Record: देश में सर्वाधिक सांप्रदायिक दंगा झारखंड में।

रांची, राज्य ब्यूरो। NCRB Latest Record राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने वर्ष 2021 के अपराध का आंकड़ा जारी कर दिया है। जारी आंकड़े के अनुसार देश में कुल 378 सांप्रदायिक दंगे हुए, जिसमें सर्वाधिक 100 दंगे सिर्फ झारखंड में हुए हैं। दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र रहा, जहां 77 सांप्रदायिक दंगा के मामले दर्ज हुए हैं। वहीं, तीसरे स्थान पर बिहार जहां 51 मामले, हरियाणा जहां 40 मामले, राजस्थान व मध्य प्रदेश जहां 22-22 मामले व असम जहां 17 मामले सांप्रदायिक दंगे से संबंधित दर्ज हुए हैं। सामान्य दंगों की बात करें तो पूरे देश में 41 हजार 66 दंगे हुए हैं, जिनमें 1426 दंगे सिर्फ झारखंड में दर्ज किए गए हैं।

लगातार बढ़ते जा रहे हैं बच्चों से अपराध के आंकड़े

झारखंड में हर वर्ष बच्चों से अपराध के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। एनसीआरबी के आंकड़े के अनुसार वर्ष 2019 में जहां 1674 बच्चों से अपराध हुआ, वहीं वर्ष 2020 में 1795 व वर्ष 2021 में 1867 में बच्चों से अपराध की घटनाएं घटी हैं। महिलाओं से अपराध का आंकड़ा भी आठ हजार से अधिक रहा। वर्ष 2019 में 8760 महिलाओं से अपराध हुआ। वर्ष वर्ष 2020 में 7630 व वर्ष 2021 में 8110 महिलाएं अपराधियों के निशाने पर रहीं।

नाबालिग व बच्चियां भी बनीं दरिंदगी का शिकार

झारखंड में नाबालिग व बच्चियां भी दरिंदगी का शिकार बनी हैं। गत वर्ष 2021 में छह साल से नीचे की दो बच्चियां, छह से 12 साल की 21 बच्चियां, 12 से 16 साल की 93 व 16 से 18 साल की 231 नाबालिग दुष्कर्म का शिकार बनीं हैं। वहीं 18 से 30 वर्ष की 901 युवतियां व 30 से 45 वर्ष की 218 महिलाएं भी दुष्कर्म की शिकार हुई हैं।

झारखंड में भी एसिड हमले के दो मामले

एसिड से हमले के मामले में गत वर्ष सभी 28 राज्यों में कुल 69 केस दर्ज हुए, जिनमें एसिड हमले के कुल 71 पीड़ित थे। इनमें झारखंड के दो कांड शामिल हैं, जिनमें पीड़ित की संख्या भी दो है।

यौन शोषण व छेड़खानी के मामले भी कम नहीं झारखंड में

गत वर्ष यौन शोषण व छेड़खानी के मामले भी कम नहीं हुए। एनसीआरबी के आंकड़े के अनुसार पूरे देश में छेड़खानी के 46918 कांड दर्ज हुए, जिनमें सिर्फ झारखंड में 69 केस दर्ज हुए हैं, जिनमें पीड़ितों की संख्या 769 है। इसी प्रकार यौन शोषण से संबंधित 17107 कांड पूरे देश में दर्ज हुए, जिनमें सिर्फ झारखंड में 148 केस दर्ज हुए हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.