चतरा, जासं। पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने वाला तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (टीएसपीसी) का सेकेंड सुप्रीमो मुकेश गंझू को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) रिमांड पर लेगी। एनआइए को मुकेश की लंबे समय से तलाश थी। पुलिस को उम्मीद है कि मुकेश के आत्मसमर्पण करने से सीआरपीएफ 190वीं बटालियन की छापेमारी में टीएसपीसी से 2017 में बरामद अत्याधुनिक अमेरिकन रायफल कोल्ट-4 की जांच में भी एनआइए को मदद मिलेगी।

भारी संख्या में कारतूस के साथ कोल्ट-4 की बरामदगी कुंदा थाना क्षेत्र के दो स्थानों से हुई थी। इसके बाद एनआइए के कान खड़े हो गए थे और उसने इसकी जांच शुरू कर दी थी। कोल्ट-4 की बरामदगी के कुछ ही महीने बाद ही टंडवा स्थित सीसीएल की आम्रपाली एवं मगध कोल परियोजना में टेरर फंङ्क्षडग का मामला सामने आया था। बहरहाल कोल्ट-4 और टेरर फंङ्क्षडग से संबंधित कुल चार मामलों की जांच एनआइए कर रही है।

टेरर फंङ्क्षडग के मामले में एनआइए ने विधिवत रूप से आरोपपत्र भी दाखिल कर दिया है, लेकिन विदेशी रायफल के मामले में अब तक विशेष जानकारी नहीं मिल सकी है। यह गुत्थी अब भी अनसुलझी है। इस गुत्थी को सुलझाने के लिए एनआइए मुकेश को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। हालांकि इसकी अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी है, लेकिन एक वरीय अधिकारी के अनुसार मुकेश के आत्मसमर्पण के साथ ही एनआइए ने उसे रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी है।

इधर चतरा पुलिस ने मुकेश गंझू को शुक्रवार को मीडिया के सामने लाया। पुलिस अधीक्षक ऋषव कुमार झा ने पत्रकारों को बताया कि मुकेश गंझू उर्फ मुनेश्वर गंझू का आत्मसमर्पण पुलिस के लिए बड़ी उपलब्धि है। उसके खिलाफ कई मामले चल रहे हैं। आत्मसमर्पण के मौके पर सीआरपीएफ 190वीं बटालियन के कमांडेंट पवन कुमार बसन, अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) निगम प्रसाद व सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अविनाश कुमार आदि उपस्थित थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021